मंडी के 13 लोगों को सऊदी अरब में बंधक बनाया गया

मंडी. सऊदी अरब के शहर रियाद में कई भारतीय युवकों को बंधक बनाने का मामला सामने आया है. इनमें से हिमाचल प्रदेश के जिला मंडी के 13 एवं एक पंजाब का युवक शामिल हैं. यह 14 भारतीय युवक बुरी तरह फंसे हुए हैं. अब यह युवक देश लौटना चाहते हैं लेकिन उनके सामने कोई रास्ता नहीं दिख रहा है. इस मामले को लेकर गुरुवार देर रात बंधक सुंदरनगर निवासी हरजिंदर सिंह की पत्नी सरोज कुमारी ने अन्य बंधकों के परिजनों के साथ सुंदरनगर थाना में आकर न्याय की गुहार लगाई है.

उल्लेखनीय है कि यह 14 युवक 4 महीने पहले सऊदी अरब में अजिविका कमाने के लिए गए थे. इनमे से नौ युवक सुंदरनगर, चार बल्ह व एक पंजाब से संबंध रखते हैं. सरोज कुमारी पत्नी हरजिंदर सिंह निवासी भोजपुर सुंदरनगर ने अपने शिकायत पत्र में आरोप लगाते हुए कहा कि उसका पति चार महीने पहले सऊदी अरब कमाने के उद्देश्य से गया था और विदेश भेजने वाले एजेंट मोहम्मद आसिफ निवासी डुगरांई ने उनसे 90 हजार रुपये लिए थे.

सऊदी अरब जाते समय उसके पति का तीन महीने का टूरिस्ट वीजा था और एजेंट ने वहां उनके मालिक द्वारा आगे का वीजा बनाने की बात कही गई थी. उन्होंने कहा कि सऊदी अरब जाते समय उन्हें आठ घंटे की ड्यूटी बताई गई थी लेकिन तीन महीने पूरे होने के बाद न ही उनका आगे का वीजा बनाया गया और न ही उनकी तन्ख्वाह समय पर दी गई.

ये भी पढ़ें- पुलिस को देखते ही पहाड़ी से कूद गया चरस तस्कर

सरोज कुमारी ने कहा कि जब उसके पति व अन्य युवकों ने अन्य सऊदी अरब में हड़ताल की तो उनके पैसे काट लिए गए और 12 घंटे की ड्यूटी के बाद उन्हें ओवरटाइम भी नहीं दिया गया. उन्होंने कहा कि बीमारी की हालत में भी उनसे काम वहां पर काम करवाया जा रहा है. जब इस बारे में उसने एजेंट से बात की तो उसने भी उसे धमकी दी कि उन्हें कहो चुपचाप काम करो नहीं तो वह वहां उन्हें किसी केस में फंसा देगा. उन्होंने कहा कि सऊदी अरब में उसके पति के साथ तनुज कुमार, रविकांत,अश्वनी सां यान, श्यामलाल, ओंकार चंद, देवेंद्र कुमार, विक्रम चंद, प्रेम सिंह, देवेंद्र कुमार, जोगिंद्र सिंह, ललित कुमार, मनोज कुमार व भूपेंद्र कुमार हैं. उन्होंने कहा कि यह सब वापस भारत आना चाहते हैं लेकिन उनका मालिक उनके पासपोर्ट नहीं दे रहा है. सरोज कुमारी व अन्य परिजनों ने 14 युवकों और उनके परिवार की परेशानी को ध्यान में रखकर प्रदेश पुलिस और प्रदेश व केंद्र सरकार से न्याय की गुहार लगाई है.

सुंदरनगर के विधायक राकेश जम्वाल का कहना है कि पिछले कल ही मामला ध्यान में आया है. प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर व मंडी संसदीय क्षेत्र के सासंद रामस्वरूप शर्मा के माध्यम से इस मामले को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज के समक्ष उठाया जाएगा. युवकों को वापस लाने के प्रयास जल्द ही किए जाएंगे. इधर, एसएचओ सुंदरनगर इंस्पेक्टर गुरबचन सिंह रणौत का कहना है कि सऊदी अरब में फंसे हुए युवकों के परिजनों ने थाना में आकर शिकायत पत्र दिया है. एजेंट को थाना में तलब किया गया है. मामले के हर पहलू को ध्यान में रखकर जांच जारी है.