तीन दिवसीय पौधरोपण अभियान के दौरान लगाए जाएंगे 15 लाख पौधे : जीएस गोराया

शिमला. प्रदेश में 9 से 15 जुलाई, 2018 के मध्य मनाए जाने वाले राज्य स्तरीय वन महोत्सव के उपरान्त आयोजित तीन दिवसीय पौधरोपण अभियान के दौरान प्रदेशभर में 15 लाख पौधे रोपित किए जाएंगे. यह जानकारी बुधवार को मानसून के दौरान इस वर्ष स्थानीय समुदायों की सहभागिता से आयोजित पौधरोपण अभियान के लिए फील्ड अधिकारियों के साथ वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से आयोजित समीक्षा बैठक की.

अध्यक्षता करते हुए प्रधान मुख्य अरण्यपाल वन जी.एस. गोराया ने दी. वीडियो कांफ्रेंस बैठक में निर्णय लिया गया कि पूरे प्रदेश में 9 से 15 जुलाई, 2018 के मध्य आयोजित होने वाले राज्य स्तरीय वन महोत्सव के, उपरान्त तीन दिवसीय पौधरोपण अभियान चलाया जाएगा. जिसमें स्थानीय समुदायों के अतिरिक्त हिमाचल प्रदेश विधानसभा के सभी सदस्यों से शामिल होने का आग्रह किया जाएगा.

बैठक में पौधशाला, पौधरोपण तथा वन संरक्षण में बेहतर प्रदर्शन करने वाले समुदायों तथा विद्यालयों के साथ-साथ वन विभाग के कर्मचारियों के लिए पारितोषिक योजना पर भी चर्चा की गई. जिसमें निर्णय लिया गया कि प्रस्तावित पुरस्कारों के लिए बेहतरीन प्रदर्शन पर आधारित नामांकन तथा चयन प्रक्रिया के लिए फील्ड अधिकारियों से सुझाव मांगे जाएं.

बैठक में संवेदनशील क्षेत्रों में तैनात वन रक्षकों को हथियार खरीदने के लिए उपदान प्रदान करने पर भी चर्चा की गई. फील्ड अधिकारियों को पात्र और इच्छुक वन रक्षकों को चयनित करने के लिए कहा गया. चयनित वन रक्षकों को हथियार के लाईसेंस प्रदान करने के मामलो को आवश्यक दस्तावेज सहित मुख्यालय भेजने के भी निर्देश दिए गए. वीडियो कांफ्रेंस में मुख्य अरण्यपाल वन, अरण्यपाल वन, मण्डलीय वन अधिकारी तथा मुख्यालय के अधिकारी भी उपस्थित थे.