वाराणसी: फ्लाईओवर हादसे में 18 की मौत, 4 अधिकारी सस्पेंड

नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश के वाराणसी में बड़ा हादसा हुआ है. कैंट में मंगलवार शाम निर्माणाधीन फ्लाईओवर का एक हिस्सा गिरने से 18 लोगों की दर्दनाक मौत हो गई और 30 से ज्यादा लोग घायल हो गए.  हादसे की चपेट में एक मिनी बस, कार और बाइकें आई थीं. घायलों का बीएचयू के ट्रॉमा सेंटर सहित शहर के अलग-अलग अस्पतालों में इलाज चल रहा है.

आंधी-तूफान ने फिर मचाई तबाही, 65 लोगों की मौत

कैंट रेलवे स्टेशन के समीप एईएन कॉलोनी के सामने निर्माणाधीन चौकाघाट-लहरतारा फ्लाईओवर की दो बीम मंगलवार की शाम साढ़े पांच बजे सड़क पर गिर पड़ीं. पुलिस महानिदेशक ओपी सिंह ने बताया कि आठ से 10 मोटरसाइकिल भी इसकी चपेट में आए. यूपी के आपदा राहत आयुक्त संजय कुमार ने वाराणसी में निर्माणाधीन पुल ढहने से अभी तक 18 लोगों की मौत की पुष्टि की है.

हादसे के बाद यहां पहुंचे डिप्टी सीएम केशव मौर्य ने सेतु निगम के चार अभियंताओं को निलंबित कर दिया है. चीफ प्रोजेक्ट मैनेजर एचसी तिवारी, प्रोजेक्ट मैनेजर राजेन्द्र सिंह और केआर सुदन व अवर अभियंता लालचंद पर यह कार्रवाई की गई है. उत्तर प्रदेश सरकार ने मामले की जांच के लिए तीन सदस्यीय कमेटी गठित की है, जो 15 दिनों के भीतर अपनी जांच रिपोर्ट सौंपेगी.

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी घटनास्थल पर देर रात पहुंचे. सीएम ने पहले घटनास्थल पर जाकर चल रहे बचावकार्य का जायजा लिया. इसके बाद बनारस हिंदू यूनिवर्सिटी के ट्रामा सेंटर में भर्ती घायलों से मिलने पहुंचे.