21वीं सदी के 21वें साल का आखिरी दिन आज, जानिए 2021 में भारत और दुनिया में क्या कुछ हुआ

21वीं सदी के 21वें साल का आखिरी दिन आज, जानिए 2021 में भारत और दुनिया में क्या कुछ हुआ - Panchayat Times
Health workers in a boat to go for a Vaccination Drive camp in a Rural area of Jharkhand on August 7, 2021

नई दिल्ली. आज 21वीं सदी के 21वें साल का आखिरी दिन है. कल से हम एक नये साल में प्रवेश कर जाएंगे. लेकिन 2021 ने हमें बहुत कुछ सिखाया, बताया और दिखाया है. 2021 में लाखों लोगों ने कोरोना महामारी में अपने करीबियों को खो दिया तो कुछ लोग सरकारों की नाकामियों की वजह से इस दुनिया को अलविदा कह गये.

आइये जानते हैं की 2021 के हरेक महीने में क्या कुछ हुआ

6 जनवरी – अमेरिकी संसद में दंगे

साल 2021 की शुरूआत अमेरिकी संसद ‘कैपिटल हिल’ में हिंसा के साथ हुई. तत्कालीन अमेरिकन राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की राष्ट्रपति चुनाव में हार के बाद उनके समर्थक 6 जनवरी, 2021 को संसद में घुस गये और वहां जमकर तोड़फोड़ की. इस दौरान कई लोगों की मौत भी हो गई.

20 जनवरी – बाइडेन-हैरिस शपथ ग्रहण समारोह

दुनिया के सबसे ताकतवर देश में नवंबर 2020 में हुए चुनाव के बाद 20 जनवरी को डेमोक्रेटिक पार्टी के नेता जो बाइडेन ने राष्ट्रपति तो भारतीय मूल की कमला हैरिस ने उपराष्ट्रपति का पदभार संभाला. अमेरिका में हुए इन चुनावों पर पूरी दुनिया की नजरें थे.

26 जनवरी – किसानों के ट्रैक्टर मार्च के दौरान हिंसा

देश के गणतंत्र दिवस के अवसर पर सितंबर 2020 में लाये गये तीन कृषि कानूनों के विरोध में दिल्ली से लगी सीमाओं पर किसानों के विरोध प्रदर्शन के बीच 26 जनवरी को ट्रैक्टर मार्च निकाला गया. इस दौरान दिल्ली में कई जगह किसानों और पुलिस के बीच झड़प हुई. बड़ी संख्या में लाल किले पहुंचे किसानों ने लाल किले पर धार्मिक झंडा लहरा दिया. कई लोगों के खिलाफ पुलिस ने मामला दर्ज करते हुए उन्हें गिरफ्तार किया था.

1 फरवरी – पड़ोसी देश म्यांमार में तख्तापलट

भारत के पड़ोसी देश म्यांमार में 1 फरवरी 2021 को सेना ने चुनी हुई सरकार का तख्तापलट (Myanmar Military Coup) करते हुए खुद सत्ता पर काबिज हो गई. म्यांमार के प्रमुख नेताओं को सेना ने आज तक हिरासत में ले रखा है. तख्तापलट के बाद से अभी तक देश में हिंसा का दौर जारी है. सेना द्वारा सैकड़ों लोगों की हत्या की जा चुकी है.

8 फरवरी – उत्तराखंड के चमोली में ग्लेशियर फटा

8 फरवरी को देश के पहाड़ी राज्य उत्तराखंड के चमोली जिले के तपोवन इलाके में ग्लेशियर फटने (Uttarakhand Glacier Burst) की घटना हुई, जिसकी चपेट में आकर 170 लोगों के बहने की आशंका जताई गई. इस घटना ने 2013 में हुई उत्तराखंड त्रासदी की याद दिला दी. इस घटना में करीब 72 लोगों की मौत हुई थी.

अप्रैल-जून 2021 – कोरोना विषाणु की दूसरी लहर

देश में अप्रैल और मई महीना काफी मुश्किलों भरा था (Second Covid-19 Wave of India). इस दौरान कोरोना वायरस की दूसरी लहर का कहर देखने को मिला. देश में टीके से लेकर ऑक्सीजन सिलेंडर तक की कमी हो गई थी. रोजाना हजारों की संख्या में मरीजों में मौत हो रही थी. इसे साल का सबसे बुरा वक्त कहा जाए तो कुछ गलत नहीं होगा.

इस दौरान बहुत सारे लोगों ने अपने करीबियों को खो दिया. हजारों लोगों ने तो सड़कों पर ही दम तोड़ दिया. दूसरी लहर के दौरान हजारों लोगों को ऑक्सीजन से लेकर टीके तक की भयंकर कमी का सामना करना पड़ा था.

9 अप्रैल – प्रिंस फिलिप का निधन

ब्रिटेन की महारानी क्वीन एलिजाबेथ द्वितीय (Elizabeth II) के पति और ड्यूक ऑफ एडिनबर्ग प्रिंस फिलिप का 9 अप्रैल 2021 को 99 साल की उम्र में निधन हो गया. उन्होंने 1947 में राजकुमारी एलिजाबेथ से शादी की थी. शादी के पांच साल बाद वह महारानी बनी थीं.

 28 अप्रैल – श्रीलंका में बुर्का बैन

भारत के पड़ोसी देश श्रीलंका में 28 अप्रैल 2021 को सार्वजनिक जगहों (Public Places) पर बुर्का पहनने पर प्रतिबंध लगा दिया गया था. श्रीलंका के मंत्रिमंडल ने इस फैसले पर मुहर लगाते हुए कहा कि सार्वजनिक जगहों पर नकाब पहनना राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए खतरा है.

2 मई – पांच राज्यों के चुनावों के नतीजे

देश में इस साल हाई वोल्टेज विधानसभा चुनाव (Assembly Elections) भी देखने को मिले. 2 मई को आये पांच राज्यों असम, तमिलनाडु, पश्चिम बंगाल, केरल और पुडुचेरी के विधानसभा चुनाव के नतीजे आए थे.

नतीजों मे जिस राज्य की सबसे ज्यादा चर्चा रही वो था पश्चिम बंगाल जहां ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस सरकार ने 294 में से 215 सीटें जीती. दूसरे स्थान पर 77 सीटों पर जीत के साथ भाजपा रही. वहीं राज्य के इतिहास में पहली बार ऐसा हुआ, जब कांग्रेस को एक भी सीट नहीं मिली.

अप्रैल-मई में हुए इन चुनावों में केरल मे लेफ्ट की सरकार की वापसी हुई, जबकि तमिलनाडु में अन्नाद्रमुक को हराते हुए एमके स्टालिन के नेतृत्व में डीएमके ने जबरदस्त जीत दर्ज की.  

देश में ड्रोन से पहली बार हमला

देश में पहली बार जम्मू और कश्मीर में आतंकियों ने ड्रोन के जरिए जम्मू एयरबेस पर विस्फोटक गिराए. जिससे इमारत की छत और जमीन पर धमाका हुआ. आतंकियों का मकसद जवानों और एयरक्राफ्ट को नुकसान पहुंचाना था. हालांकि उनके मंसूबे कामयाब नहीं हो सके.

8 जूलाई –  मोदी मंत्रिमंडल का विस्तार

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 8 जुलाई को अपने मंत्रिपरिषद का विस्तार किया था. साथ ही कैबिनेट में फेरबदल किया गया. इस बार 36 नए चेहरे शामिल हुए. जबकि 7 राज्यमंत्रियों को मंत्रिमंडल में शामिल किया गया. कैबिनेट में 8 नए चेहरों को जगह मिली. नए मंत्रिपरिषद में शामिल हुए 43 सदस्यों को शपथ दिलाई गई.

11 जुलाई – अंतरिक्ष की सैर

जुलाई के महीने अमीरों के बीच स्पेस जाने की होड़ देखी गई. 11 जुलाई को, रिचर्ड ब्रैनसन अपने खुद के रॉकेट से अंतरिक्ष में पहुंचने वाले पहले नागरिक बन गए. नौ दिन बाद ब्लू ओरिजिन के रॉकेट से जेफ बेजोस भी अंतरिक्ष की यात्रा के लिए रवाना हुए.

7 अगस्त – भाला फेंक में नीरज चोपड़ा ने ओलंपिक में भारत को गोल्ड दिलाया

जापान की राजधानी टोक्यो में हुए ओलंपिक खेलों में 7 अगस्त, 2021 को जैवलीन थ्रोअर नीरज चोपड़ा ने ओलंपिक में भारत को गोल्ड दिलाया. ये 2008 के बाद भारत का पहला स्वर्ण पदक था.

जापान की राजधानी टोक्यो में 23 जूलाई 2021 से 8 अगस्त 2021 तक आयोजित हुए ओलंपिक खेलों में भारतीय खिलाड़ियों ने शानदार प्रदर्शन करते हुए इस ओलंपिक को भारत के इतिहास का सबसे अच्छा ओलंपिक बना दिया. टोक्यो-2020 में भारत ने कुल 7 पदक जीते जिसमें एक स्वर्ण दो रजत और 4 कांस्य पदक शामिल है.

15 अगस्त – 20 साल बाद अफगानिस्तान में तालिबान की वापसी

20 साल के बाद अफगानिस्तान में 15 अगस्त को फिर से तालिबान ने कब्जा कर लिया. तत्कालीन राष्ट्रपति अशरफ गनी देश छोड़कर भाग गए थे. इससे पहले तालिबान को 2001 में अमेरिका और उसकी सहयोगी सेनाओं ने सत्ता से हटा दिया था. देश में 20 साल तक युद्ध चला. इस युद्ध की समाप्ति पर जब विदेशी सैनिकों की वापसी हो रही थी. तभी तालिबान ने कब्जा कर लिया.

 18 सितंबर – अमरिंदर सिंह ने इस्तीफा दिया

लंबी खीचंतान के बाद कांग्रेस के कद्दावर नेता रहे कैप्टन अमरिंदर सिंह ने 18 सितंबर को पंजाब के मुख्यमंत्री पद से इस्तीफा दे दिया. इस दौरान उन्होंने इस्तीफे की वजह बताते हुए कहा कि उन्हें पार्टी में अपमानित किया गया है.

24 सितंबर – पहला क्वाड शिखर सम्मेलन

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडेन, ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन और जापान के तत्कालीन प्रधानमंत्री योशिहिदे सुगा के बीच पहला क्वाड शिखर सम्मेलन (QUAD Summit) हुआ. सभी नेताओं के बीच ये कोरोना महामारी के बाद पहली बार आमने-सामने की मुलाकात हुई.

3 अक्तूबर – लखीमपुर खीरी कांड

देश के सबसे बड़े राज्य उत्तर प्रदेश में 3 अक्तूबर को लखीमपुर खीरी जिले के तिकुनिया गांव में कृषि बिलों का विरोध कर रहे किसानों को केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा के बेटे आशीष मिश्रा द्वारा गाड़ी से कुचलने की घटना सामने आई. जिसके बाद केंद्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्रा टेनी के बेटे आशीष मिश्रा के खिलाफ हत्या का मामला दर्ज किया गया. इस घटना में 7 किसान, 1 पत्रकार और 3 आम लोगों समेत 11 लोगों की मौत हो गई थी.

21 अक्तूबर – 100 करोड़ लोगों का टीकाकरण पूरा

21 अक्तूबर 2021 का दिन भारत के लिए ऐतिहासिक दिन रहा. भारत ने 279 दिनों में दुनिया में सबसे अधिक यानी 100 करोड़ टीकाकरण का रिकॉर्ड बनाया.

19 नबंबर – कृषि कानूनों की वापसी

एक साल से ज्यादा समय से चल रहे किसान आंदोलन के बीच 19 नवंबर को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने का ऐलान कर दिया. उन्होंने इस दौरान कहा कि ये बिल किसानों की भलाई के लिए लाए गए थे लेकिन शायद सरकार उन तक अपनी बात नहीं पहुंचा पाई.

8 दिसंबर – देश के पहले प्रमुख रक्षा अधिकारी की हेलिकॉप्टर दुर्घटना में मौत

8 दिसंबर को तमिलनाडु में भारतीय वायुसेना का एक एमआई-17वी5 हेलिकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हो गया जिसमें देश के पहले प्रमुख रक्षा अधिकारी जनरल बिपिन रावत उनकी धर्मपत्नी मधुलिका रावत और 12 अन्य रक्षा अधिकारियों की दुखद मृत्यु हो गई. इस घटना में केवल ग्रुप कैप्टन वरुण सिंह ही जीवित बचे थे. लेकिन बाद में उनका भी निधन हो गया. वायु सेना ने हादसे की उच्चस्तरीय जांच के आदेश दिए हैं.

 11 दिसंबर – किसान आंदोलन खत्म

11 दिसंबर को किसानों ने अपना एक साल से भी ज्यादा समय से चल रहे आंदोलन को समाप्त कर दिया. केंद्र सरकार ने किसानों को भेजे मसौदे में किसानों पर दर्ज मुकदमों की वापसी और एमएसपी पर उनके साथ चर्चा करने की बात कही. किसान आंदोलन के दौरान 700 के करीब किसानों की मौत हो गई थी.

हरनाज कौर संधू बनीं मिस यूनिवर्स

इजरायल में आयोजित प्रतियोगिता में हरनाज कौर संधू ने मिस यूनिवर्स 2021 का खिताब अपने नाम किया. 21 साल बाद इस प्रतियोगिता का टाइटल भारत के नाम हुआ था. इससे पहले 1994 में सुष्मिता सेन और 2000 में लारा दत्ता ने ये खिताब जीता था.

कहां खड़े हैं हम अब

साल 2021 पाबंदियों का दौर रहा. साल की शुरुआत जहां लॉकडाउन के साथ हुई थी वहीं अब साल कि विदाई के वक्त भी देश भर में कोरोना ने एक बार फिर डरा दिया है. नए केस की तादाद इतनी ज्यादा है कि इस कोरोना मामलों में बढ़ोतरी को तीसरी लहर माना जा रहा है.

देश के कई राज्यों में कोरोना के नए बहुरूप ओमिक्रॉन के मामले भी बढ़ रहे हैं. कई राज्यों में पाबंदियों के साथ सख्ती का दौर शुरू हो गया है.