अस्पताल के सेप्टिक टैंक में डूबने से तीन वर्षीय बच्ची की मौत

अस्पताल के सेप्टिक टैंक में डूबने से तीन वर्षीय बच्ची की मौत - Panchayat Times

ऊना. दौलतपुर चौक के सामुदायिक अस्तपाल परिसर से शुक्रवार दोपहर वाद अचानक लापता हुई बच्ची अस्पताल के सेप्टिक टैंक में मिली, जिसकी सेप्टिक टैंक से निकालने के कुछ देर बाद मौत हो गयी.

गौर रहे डंगोह गांव की एक महिला अपनी अढाई साल की बच्ची और पति सहित शुक्रवार को स्थानीय अस्पताल में किसी का कुशलक्षेम पूछने आई हुई थी, इसी दौरान करीब 3 बजे बच्ची रहस्यमयी परिस्थितियों में गायब हो गई.

बच्ची लापता होने की बात क्षेत्र से लेकर पुरे इलाके में आग की तरह फ़ैल गई. अफरा तफरी में पुलिस से लेकर स्थानीय विधायक राजेश ठाकुर भी मौके पर पहुंचे. स्थानीय दुकानदारों से लेकर बच्ची के परिजनों ने तलाश के लिए एक बड़ा अभियान छेड़ दिया. लापता बच्ची की खोजबीन को लेकर पुलिस ने जगह जगह नाकाबंदी कर दी. यहां तक की सोशल मिडिया में भी बच्ची की फोटो वायरल हो गई.

आखिरकार दो घंटों के पश्चात अढाई बर्षीय लापता बच्ची परी अस्पताल के सेप्टिक टैंक में गिरी हुई अवस्था में मिली. टैंक से निकाल कर बच्ची को अस्पताल में चिकित्सकों की देखरेख में ईलाज शुरू किया गया.

बताया जाता है की इस दौरान नन्हीं बच्ची की धड़कन चल रही थी लेकिन चिकित्सकों की लम्बी जद्दोजहद के बाद भी बच्ची को बचाया नहीं जा सका. आखिरकार अस्पताल के चिकित्सकों ने बच्ची को मृत घोषित कर दिया.

उधर एसपी ऊना दिवाकर शर्मा ने बताया कि पुलिस ने आईपीसी की धारा 336,304-ए के तहत मामला दर्ज करके बच्ची की लाश को कब्जे में लेकर आगामी कारवाई शुरू कर दी है.

गौर रहे अस्पताल के सीसीटीवी में देखा गया कि ऊक्त लड़की दो तीन बार अस्पताल वार्ड से खेलते हुए नीचे आयी और उसके पिता उसे उठाकर अस्पताल परिसर में ले जाते देखे गए. परन्तु तीन बजे के वाद जब ऊक्त बच्ची खेलते खेलते माता पिता से दूर गयी तो काफी देर तक न आई तो परिजनों ने उसे ढूंढना शुरू किया,परन्तु बच्ची न मिलने पर पुलिस को सूचना की गई. मौके पर पुलिस ने कारवाई व तलाश शुरू की परन्तु सेप्टिक टैंक में बच्ची कैसे गिरी,इसकी जांच जारी थी.