32 स्कूलों को मिलेगा राज्य स्तरीय स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार : सुरेश भारद्वाज

32 स्कूलों को मिलेगा राज्य स्तरीय स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार : सुरेश भारद्वाज-Panchayat Times
फाइल फोटो

शिमला. शिक्षण संस्थानों में स्वच्छता को बढ़ावा देने के उद्देश्य से शुरू किए गए स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार के लिए 32 स्कूलों को राज्य स्तरीय पुरस्कार दिया जाएगा. इस सम्बन्ध में जानकारी देते हुए शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने गुरुवार को यहां कहा कि स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार 2017-18 में हिमाचल प्रदेश के 2815 स्कूलों ने ऑनलाइन प्रक्रिया के माध्यम से भाग लिया, जिनमें से जिला स्तरीय पुरस्कार के लिए 60 स्कूलों का चयन किया गया, जबकि राज्य स्तरीय पुरस्कार के लिए 32 स्कूलों का चयन हुआ.

राज्य स्तरीय पुरस्कार पाने वाले 32 स्कूलों में राजकीय प्राथमिक पाठशाला कमलारी, राजकीय प्राथमिक पाठशाला टिप्परी, राजकीय माध्यमिक पाठशाला चचियाण, राजकीय प्राथमिक पाठशाला बंदोल, राजकीय प्राथमिक पाठशाला कुफरीधार, राजकीय माध्यमिक पाठशाला बरछवाड़, राजकीय प्राथमिक पाठशाला जोल, राजकीय प्राथमिक पाठशाला धंगोटा, राजकीय प्राथमिक पाठशाला डार, राजकीय प्राथमिक पाठशाला नन्ड, राजकीय प्राथमिक पाठशाला भराड़ी, राजकीय प्राथमिक पाठशाला गुलाणी, राजकीय प्राथमिक पाठशाला भारती, राजकीय प्राथमिक पाठशाला भूमति, राजकीय (कन्या) वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला सराहां, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला मंजयाट, राजकीय उच्च पाठशाला थोड़ निवाड़, राजकीय उच्च पाठशाला स्कोड़ी, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला क्वारग, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला धनेत्तर, राजकीय उच्च पाठशाला मलांगण, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला अमरोह, राजकीय उच्च पाठशाला बनाल, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला महारल, राजकीय उच्च पाठशाला खलाणू, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला मुंदरू, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला चौंतड़ा, राजकीय उच्च पाठशाला तराल्ला, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला बागी, राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला सकोह और राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला चुवाड़ी शामिल हैं.

शिक्षा मंत्री ने कहा कि हिमाचल प्रदेश के दो स्कूलों का चयन राष्ट्रीय स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार के लिए भी किया गया है. देशभर से चुने गए 52 स्कूलों में से बिलासपुर जिला की राजकीय प्राथमिक पाठशाला नंद तीसरे नंबर पर, जबकि सिरमौर जिला की राजकीय माध्यमिक पाठशाला धमून आठवें नंबर पर रही. इन दोनों स्कूलों को 50-50 हजार रुपए का इनाम दिया जाएगा. केंद्रीय मानव संसाधन मंत्री प्रकाश जावड़ेकर 18 सितम्बर को वर्ष 2017-18 के राष्ट्रीय स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार दिल्ली में प्रदान करेंगे.