2019 में 42,480 किसानों और मजदूरों ने की आत्महत्या, पिछले साल हर दिन औसतन 381 लोगों ने की खुदकुशी

2019 में 42,480 किसानों और मजदूरों ने की आत्महत्या, पिछले साल हर दिन औसतन 381 लोगों ने की खुदकुशी - Panchayat Times
For representational purpose only Source:- Internet

नई दिल्ली. राष्ट्रीय अपराध रिकॉर्ड ब्यूरो (एनसीआरबी) द्वारा 1 सितंबर को जारी आंकड़ों के मुताबिक देश में पिछले साल हर दिन औसतन 381 लोगों ने खुदकुशी की. आंकड़ो के मुताबिक सालभर में कुल 1,39,123 लोगों ने आत्महत्या की.

एनसीआरबी के ड़ाटा के अनुसार साल 2018 की तुलना में 2019 में खुदकुशी की घटनाओं में 3.4 फीसद की वृद्धि हुई. 2018 में 1,34,516 और 2017 में 1,29,887 लोगों ने खुदकुशी की थी. इस दौरान हर एक लाख कि आबादी पर आत्महत्या की घटनाओं में 0.2 फीसद की वृद्धि देखी गई.

2019 में 42,480 किसानों और मजदूरों ने की आत्महत्या, पिछले साल हर दिन औसतन 381 लोगों ने की खुदकुशी - Panchayat Times
Suicide in India : Source NCRB data of 2019 released on September, 1

भारत में आत्महत्या की दर 10.4 फीसद की तुलना में शहरों में खुदकुशी की दर 13.3 फीसद

एनसीआरबी के आंकड़ों के मुताबिक पूरे भारत में आत्महत्या की दर (10.4 फीसद) की तुलना में शहरों में खुदकुशी की दर (13.3 फीसद) अधिक रही. 53.6 फीसद मामलों में फांसी लगाकर, 25.8 फीसद मामलों में जहर खाकर, 5.2 फीसद मामलों में डूबकर और 3.8 फीसद मामलों में खुद को आग लगाकर खुदकुशी की गई.

Suicide in India State wise : Source NCRB data of 2019 released on September, 1

32.4 फीसद लोगों ने की पारिवारिक कारणों से खुदकुशी

32.4 फीसद लोगों ने पारिवारिक कारणों (वैवाहिक मुद्दों को छोड़कर) से खुदकुशी की. शादी संबंधी कारणों से 5.5 फीसद और बीमारी के चलते 17.1 फीसद लोगों ने आत्महत्या की. खुदकुशी के हर सौ मामलों में 70.2 पुरुष और 29.8 महिलाएं शामिल थीं.

5957 किसानों ने की आत्महत्या

कृषि क्षेत्र में शामिल कुल 10,281 व्यक्तियों (जिसमें 5,957 किसान / कृषक और 4,324 खेतिहर मजदूर शामिल हैं) ने 2019 के दौरान आत्महत्या की हैं, जिनकी गिनती देश में कुल आत्महत्या पीड़ितों (1,39,123) के 7.4% है. 5,957 किसान/कृषक आत्महत्या करने वालों में, कुल 5,563 पुरुष और 394 महिलाएं थीं.