दुमका लोकसभा क्षेत्र में बनेंगे 51 आदर्श मतदान केंद्र

मतदान के दिन मतदाता को वाहनों में ले जाना माना जाएगा भ्रष्ट काम-Panchayat Times
प्रतीक चित्र

दुमका. वरीय पदाधिकारी स्वीप कोषांग सह उप विकास आयुक्त दुमका वरुण रंजन की अध्यक्षता में लोकसभा आम चुनाव 2019 के मद्देनजर स्वीप कोषांग के प्रभारी पदाधिकारी एवं कर्मियों के साथ समीक्षा बैठक बुधवार को हुई. बैठक में उन्होंने कहा कि दुमका जिला अंतर्गत वैसे मतदान केंद्र को चिन्हित किया जाए, जहां विगत चुनाव में मतदान के प्रतिशत कम रहा है.

चिन्हित कर उक्त मतदान केंद्रों पर मतदान के प्रतिशतता कम रहने के कारण का विश्लेषण करते हुए कार्य करने का निर्देश दिया. डीडीसी ने कहा कि चुनाव के दौरान कुल 51 आदर्श मतदान केंद्र बनाए जाएंगे. इन सभी आदर्श मतदान केंद्र को विकसित किया जाना है. उक्त मतदान केंद्र पर न्यूनतम मूलभूत सुविधा यथा विद्युत, पेयजल, शौचालय, मोबाइल कनेक्टिविटी, रैंप, पहुंच पथ आदि की सुविधा होगी. इसके अतिरिक्त आदर्श मतदान केंद्र के रूप में विकसित करने के लिए उक्त मतदान केंद्रों पर मतदाता को कई अन्य सुविधा प्रदान की जाएगी. इसके साथ ही मतदान केंद्र की साज-सज्जा, सुंदरीकरण, कुशल एवं प्रशिक्षित मतदानकर्मी की प्रतिनियुक्ति की जाएगी.

उन्होंने कहा कि 51 मतदान केंद्र जिला के अन्य मतदान केंद्र के लिए आदर्श मानक स्थापित करेंगे. इस कार्य को संपन्न कराने के लिए उन्होंने संबंधित अधिकारी को निर्देश दिया.  जिला में 11 पिंक बूथ बनाया जाएगा. इन पिंक बूथ में महिला मतदान केंद्रों पर सभी मतदान कर्मी महिला होंगी. इसके लिए लगभग 100 महिला कर्मियों को अलग से विशेष प्रशिक्षण प्रदान किया जा रहा है. पिंक बूथ थीम बेस्ड होगा एवं देखने में आकर्षक होगा. मतदाताओं के बीच जागरूकता बढ़ाने के लिए एक रुचिकर खेल को विकसित किया जाएगा.

इस खेल में प्रत्येक समाजिक बुराई शराब, पैसा लेकर वोट देना, लोगों के बहकावे में जाति धर्म के आधार पर वोट करना आदि को दर्शाया जाएगा. खेल के माध्यम से लोगों को स्वतंत्र निष्पक्ष मतदान के प्रति जागरूक करने का प्रयास किया जाएगा. शहर एवं गांव के मुख्य स्थलों पर नुक्कड़ नाटक, क्विज, प्रतियोगिता, नृत्य संगीत कार्यक्रम, दीवाल लेखन आदि के माध्यम से लोगों का मनोरंजन करते हुए उन्हें मतदान करने के लिए प्रेरित किया जाएगा.

सोशल मीडिया के माध्यम से अधिक से अधिक लोगों तक जिला प्रशासन द्वारा मतदान प्रतिशतता बढ़ाने के लिए कार्य किए जाएंगे. उन्होंने जिला समाज कल्याण पदाधिकारी को निर्देश दिया कि सेविका, पोषण सखी आदि के सहयोग से कल्चरल ग्रुप का निर्माण किया जाए, जिनके द्वारा विभिन्न प्रमुख स्थलों पर सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति करते हुए मतदान के लिए प्रोत्साहित किया जाए.