शांति के साथ झारखंड की चार सीटों पर 62% मतदान

पांचवें चरण में सोमवार को झारखंड की चार सीटों रांची, खूंटी, हजारीबाग
फाइल फोटो

रांची. लोकसभा चुनाव के पांचवें चरण में सोमवार को झारखंड की चार सीटों रांची, खूंटी, हजारीबाग और कोडरमा में शाम चार बजे मतदान शांतिपूर्ण सम्पन्न हो गया. इस दौरान 62 प्रतिशत से अधिक मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया.

राज्य के मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी एल खियांग्ते ने बताया कि मतदान शांतिपूर्ण संपन्न हो गया और इस दौरान कहीं से कोई अप्रिय घटना की सूचना नहीं है. राज्य में मतदान का यह दूसरा चरण था. इस चरण में इन सीटों पर खड़े 61 उम्मीदवारों की चुनावी किस्मत ईवीएम में बंद हो गयी. प्रमुख उम्मीदवारों में केन्द्रीय मंत्री जयंत सिन्हा, पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय, पूर्व मुख्यमंत्री अर्जुन मुंडा व बाबूलाल मरांडी, राज्य की पूर्व मंत्री अन्नपूर्णा देवी, विधायक राजकुमार यादव, पूर्व विधायक कालीचरण मुंडा और राज्य खादी बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष संजय सेठ शामिल हैं. मतदान सुबह सात बजे से शाम चार बजे तक हुआ. इस दौरान कई मतदान केंद्रों पर ईवीएम में खराबी के कारण मतदान निर्धारित समय पर शुरू नहीं हो सका. इन तमाम स्थानों पर ईवीएम बदलने के बाद मतदान शुरू हुआ.

मतदान केंद्र व मतदानकर्मी

इस चरण में हुए लोकसभा की चार सीटों के लिए 8834 मतदान केंद्र बनाए गए थे, जिसमें 180 क्रिटिकल मतदान केंद्र के रूप में चिन्हित किए गए थे. इन मतदान केंद्रों के लिए 39,909 मतदानकर्मी प्रतिनियुक्त किए गए थे . इसमें कोडरमा लोकसभा क्षेत्र में 11,625, रांची में 8739, खूंटी में 10745 और हजारीबाग में 8800 मतदानकर्मी प्रतिनियुक्त किए गए थे. चार सीटों के मतदान में 8834 कंट्रोल यूनिट, 13488 बैलेट यूनिट और 8834 वीवीपैट का इस्तेमाल किया गया. चुनाव को लेकर निर्वाचन आयोग के द्वारा 4 सामान्य ऑब्जर्वर, 9 व्यय ऑब्जर्वर और 3 पुलिस ऑब्जर्वर के अलावा 1191 माइक्रो ऑब्जर्वर प्रतिनियुक्त किए गए थे.

वेबकास्टिंग व्यवस्था

चार सीटों के 1117 मतदान केंद्रों की वेबकास्टिंग की गयी. इसके लिए कोडरमा के 246, रांची के 463, खूंटी के 174 और हजारीबाग के 244 मतदान केंद्रों का चयन वेबकास्टिंग के लिए किया गया था. वेबकास्टिंग की मॉनिटरिंग मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी कार्यालय, झारखंड रांची एवं सभी जिलों के जिला निर्वाचन पदाधिकारी के कार्यालय में बनाए गए वेबकास्टिंग नियंत्रण कक्ष से की गयी.

महिलाओं द्वारा संचालित मतदान केंद्र

खियांग्ते ने बताया कि दूसरे चरण के चुनाव में महिलाओं की सहभागिता को बढ़ाने के लिए महिलाओं द्वारा संचालित होनेवाले कुल मतदान केंद्रों की संख्या 105 थी. इसके तहत कोडरमा में 19, रांची में 22, खूंटी में 41 और हजारीबाग में 23 मतदान केंद्र महिलाओं द्वारा संचालित हुई. इन मतदान केंद्रों की व्यवस्था पूरी तरह महिलाकर्मियों के हाथों में थी. इसके अलावा चारो लोकसभा सीटों के लिए 347 आदर्श मतदान केंद्र बनाए गए थे. इसमें कोडरमा में 42, रांची में 174, खूंटी में 50 और हजारीबाग में 81 आदर्श मतदान केंद्र बनाए गए थे.

कड़े सुरक्षा प्रबंध

अति संवेदनशील और संवेदनशील मतदान केंद्रों में शांतिपूर्ण मतदान कराने के लिए केंद्रीय अर्धसैनिक बल के जवानों की तैनाती की गई थी. कोडरमा, रांची, खूंटी और हजारीबाग में मतदान को लेकर 173 कंपनी केंद्रीय अर्धसैनिक बल, 52 कंपनी राज्य पुलिस, 20 हजार के लगभग जिला पुलिस, 5800 गृहरक्षा वाहिनी के जवान, 3 हजार महिला पुलिसकर्मी और 6200 के लगभग पुलिस अफसरों को तैनात किया गया था.

हेलीकॉप्टर से निगरानी, एयर एंबुलेंस

इमरजेंसी के लिए एक एयर एंबुलेंस की व्यवस्था भी की गई थी. यह एंबुलेंस मतदान के एकदिन पूर्व से लेकर मतदान के एकदिन बाद तक आपातकालीन सेवा के लिए उपलब्ध है. चार सीटों के संवेदनशील मतदान केंद्रों की निगरानी के लिए दो हेलीकॉप्टर का इस्तेमाल किया गया था.