हिमाचल ग्लोबल इन्वेस्टर मीट में 92 हजार करोड़ के एमओयू हुए साइन

हिमाचल ग्लोबल इन्वेस्टर मीट में 92 हजार करोड़ के एमओयू हुए साइन-Panchayat Times

धर्मशाला. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को हिमाचल ग्लोबल इन्वेस्टर मीट में हिस्सा ले रहे निवेशकों से हिमाचल प्रदेश में दिल खुलकर निवेश करने का आह्वान किया. इन्वेस्टर मीट का उद्घाटन करते हुए प्रधानमंत्री ने निवेशकों से कहा, मैं यहां मेहमान नहीं हूं.आप सभी हिमाचल प्रदेश में मेरे मेहमान हैं. इसलिए यहां दिल खोलकर निवेश कीजिए. हिमाचल प्रदेश आपको आशीर्वाद देता रहेगा। प्रधानमंत्री ने कहा, हिमाचल प्रदेश को केंद्र से सौ लाख करोड़ रुपये के निवेश का लाभ आने वाले सयम में मिलने जा रहा है.

उन्होंने ने कहा कि पहले निवेशकों के लिए केवल कुछ राज्य ही मीट का आयोजन करते थे. अब राज्यों में निवेशकों को आकर्षित करने के लिए मीट करने की होड लगी हुई है. इस मीट के बहाने राज्य उद्योगों को कई तरह की छूट दे रहे हैं, लेकिन इससे उद्योग का भला होने वाला नहीं है. मोदी ने कहा कि अब राज्य सरकारें छूट से आगे बढ़कर इंस्पेक्टरी राज खत्म करने के दिशा में प्रयास कर रही हैं. ताकि उद्योगों को उचित लाभ मिले.

प्रधानमंत्री मोदी ने कहा कि यह प्रतियोगिता राज्यों में जिनती अधिक बढ़ेगी, हमारे उद्योगों की क्षमता भी उतनी ही बढ़ेगी, जिसका लाभ देश को होगा. उद्योग बेबजह के नियम-कायदों को पंसद नहीं करते. यह उद्योग की गति रोकते हैं. उन्होंने कहा, देश के विकास की गति चार पहियों सोसायटी, सरकार, उद्योग और ज्ञान पर चल रही है. सरकार देश के हित के अनुसार फैसले ले रही है.

मोदी ने कहा कि 2014 से 2019 के बीच इज आफ डूइंग बिजनेश की रैकिंग में 79 फीसदी सुधार हुआ है. अब हम दुनिया के पहले दस में आ गए हैं. बीते साल हमारी रैंकिग में 10 में से 6 पैरामीटर में सुधार आया है. इसका साफ मतलब है कि सरकार जमीन पर जाकर काम कर रही है. प्रधानमंत्री ने कहा कि पहले एक ही अनुमति के लिए महीनों लगते थे लेकिन अब हम नियमों में सुधार कर रहे हैं. हमने अपनी अर्थव्यवस्था को कमजोर नहीं पड़ने दिया है. दुनिया में विकास दर तीन फीसदी है जबकि हमारे देश में यह दर पांच फीसदी बनी हुई है.

नरेन्द्र मोदी ने कहा कि केंद्र सरकार ने बीते कल ही मध्यम वर्ग के परिवारों के लिए बहुत बड़ा फैसला लिया है जिससे 4.50 लाख परिवारों को लाभ होने वाला है. सरकार के फैसले से जल्द इन लोगों के अपने घर क सपना पूरा होगा. प्रधानमंत्री ने कहा कि भारत ने नई कंपनी खोलने पर कॉर्पोरेट टैक्स को कम कर 15 फीसदी किया है. हिमाचल प्रदेश में हर क्षेत्र में निवेश की आपार संभावनाएं हैं. 2014 में ट्रैवल टूरिजम इनडेक्स रैंक 65 था जोकि 2019 में 34 पर आ गया है. भारत में हर साल एक करोड़ से अधिक विदेशी पर्यटक आ रहे हैं. इससे बीते साल दो लाख करोड़ रुपये की विदेशी मुद्रा की कमाई हुई है.

उन्होंने कहा कि हिमाचल प्रदेश में जयराम ठाकुर के मुख्यमंत्री बनने के बाद औद्योगिक परिदृश्य बदल रहा है. हिमाचल प्रदेश में जिलों को पहचान देने वाली चीजों को प्रमोट करने की जरूरत है. इससे पहले मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि इस मीट ने सरकार ने 85 हजार करोड़ रुपये का लक्ष्य रखा था मगर अब तक 92 हजार करोड़ के एमओयू साइन हो चुके हैं.