रामपुर के तीन मकान में लगी आग, छह से अधिक परिवार बेघर

रामपुर के तीन मकान में लगी आग, छह से अधिक परिवार बेघर-Panchayat Times
प्रतीक चित्र

शिमला. जिला के रामपुर उपमंडल के चिड़गांव थानाक्षेत्र सेरीबासा गांव में भीषण अग्निकांड में तीन मकान जलकर राख हो गए.छह से अधिक परिवार बेघर हो गए. हालांकि अग्निकांड में कोई जनहानि नहीं हुई है, लेकिन एक करोड़ की संपत्ति के नुकसान का अनुमान है.

चिड़गांव पुलिस के मुताबिक, आगजनी का कारण शार्ट-सर्किट हो सकता है. सोमवार रात करीब नौ बजे गांव के एक मकान में आग लग गई. जिसने साथ लगे दो मकानों को भी अपनी चपेट में ले लिया. लकड़ी के बने इन मकानों में आग से अफरा-तफरी का माहौल पैदा हो गया. हालांकि आग की चपेट में आए प्रभावितों ने भागकर अपनी जान बचाई और मवेशियों को भी सुरक्षित निकाला. इस वजह से किसी तरह का जानी नुकसान तो नहीं हुआ. लेकिन, एक करोड़ की संपत्ति जलकर स्वाहा होने का अनुमान है.

औद्योगिक क्षेत्र बद्दी में सामने आया धोखाधड़ी का एक बड़ा मामला

इस घटना के बाद सूचना पर तीन अग्निशमन वाहन रोहड़ू और कोटखाई से रवाना हुए. मगर इस गांव तक सड़क की सुविधा की सही व्यवस्था न होने के कारण अग्निशमन वाहन घटनास्थल पर नहीं पहुंच सके. इस वजह से आग बुझाने के लिए पाइप बिछानी पड़ी. अग्निशमन वाहनों को आग पर काबू पाने में करीब तीन घंटे लग गए. आग लगने से मंगत राम, फुलपति, सुशील, अनिल, शरण दास और मनजीत बेघर हुए हैं.

पूर्ण दास के मकान को आंशिक नुकसान पहुंचा है जबकि एक अन्य ग्रामीण परवेश कुमार की गोशाला भी आग में स्वाहा हो गई. हालांकि पशुओं को बचा लिया गया. सबसे पहले आग मंगत राम के घर में भड़की और फिर बेकाबू हो गई.
रोहड़ू के डीएसपी अनिल शर्मा ने मंगलवार को बताया कि इन घटना में तीन मकान राख हुए हैं और छह परिवार बेघर हुए हैं. आगजनी में कोई हताहत नहीं हुआ है. अग्निशमन वाहन सुबह भी एहतियातन तौर पर मौके पर मौजूद हैं. अग्निकांड में हुए नुकसान का आंकलन किया जा रहा है. प्रशासन की तरफ से प्रभावित परिवार को हर संभव मदद की जाएगी.