नौकरी के नाम पर पंजाब ले जाकर कराया गया देह व्यापार, एसपी बोले होती रहती है ये सब घटना

नौकरी के नाम पर पंजाब ले जाकर बेचा, कराया गया देह व्यापार, एसपी बोले होती रहती है ये सब घटना- Panchayat Times

गुमला/रांची. झारखंड़ के गुमला जिला में भूख और गरीबी लगातार जारी है. कुछ पैसो का लालच दे कर ब्यूटीपार्लर में नौकरी दिलवाने को नाम पर दो लड़कियों को रांची लाया गया, जिसके बाद वहां ले उनकों ट्रेनिग के नाम पर बहला-फुस्लाकर पंजाब में ले जाकर बेच देने साथ ही बेचने से पूर्व लड़कियों से जबरन देह व्यापार कराने का मामला सामने आया है.

गरीबी और भूख को मिटाने के दावा

यह एक ऐसा मामला है जिसको सुनकर आप के रोंगटे खड़े हो जायेगे, जहाँ गरीबी और भूख को मिटाने के दावा कर काम दिलाने का झांसा दिया. इसके बाद युवती से जबरन देह व्यापार भी कराया गया. पीड़िता के विरोध करने पर आरोपी ने मारपीट कि और जान से मार देने की धमकी दी जिसे पुरे परिवार डर के साये में है और गुमला थाना में मामला दर्ज किया गया है.

यह रोंगटे खड़े कर देने वाली घटना गुमला जिले के गढ़ सारू गांव की है. जहाँ दो युवतीओं के साथ जबरन देह व्यापार कराया गया. मिली जानकारी के अनुसार काम दिलाने के नाम पर 14 वर्षीाय नाबालिग युवती और 23 वर्षीय विवाहिता महिला को पैसे की लालच देकर काम करवाने के लिए लुरु मण्डारी गांव की रहने वाली फूल कुमारी अपने सहयोगी पंकज के साथ रांची ले गई, जहाँ किसी ब्यूटीपार्लर में रखा गया.

बहला-फुसलाकर ले जाया गया पंजाब

जिसके बाद नाबालिग को अधिक रुपयो का लालच देकर बहला-फुसलाकर पंजाब ले जाया गया और एक मकान में रखा गया. उसके बाद 20 लोगों के साथ पंकज नामक युवक ने रुपये लेकर जबरन अन्य लोगो के साथ देह व्यापार कराया और खुद भी दुष्कर्म किया जब नाबालिग ने इस दुराचार का विरोध किया तो नाबालिग ओर विवाहिता महिला के साथ मारपीट कि और जान से मार देने की धमकी दी. पीड़ित के शरीर पर मारपीट के कई निशान भी है.

वहीं नाबालिक युवती की माने तो उनसे देह व्यापार कराया जाता था. जिसके बाद पीड़िता ने किसी तरह से घटना की जानकारी परिजनों को दिया और पीड़ित की वापसी के लिए आरोपी ने 10000 रुपये की मांग की. वहीं झारखण्ड मुक्ति मोर्चा के युवा कार्यकर्ताओ की कोशिश से दोनों पीड़िता को सकुशल गुमला वापस बुला लिया गया है.

जब इसकी जानकारी झारखण्ड मुक्ति मोर्चा के रोहित भगत व प्रवक्ता प्रकाश सोनी को आप बीती कहानी सुनाई गयी, तो उन्होंने पीड़ित परिवार के लोगो के साथ एसपी अंजनी कुमार झा को ज्ञापन देकर आरोपियों की गिरफ्तार कर कड़ी से कड़ी सजा की मांग की है. वहीं पीडिता की माँ की माने तो उन्होंने एक ही स्वर में अपनी बेटी की इंसाफ की गुहार लगायी और कड़ी से कड़ी सजा की मांग की है.

ये सब घटना होते रहते है एसपी अंजनी झा

जब घटना की जानकारी जिले के एसपी अंजनी झा को दी गई तो उन्होंने पीडिता को गुमला थाने में भेज दिए लेकिन मिडिया को एसपी ने कुछ भी कहने से इंकार कर दिया और बोले की ये सब घटना होते रहते है. जब घटना की जानकारी के बाद थाना में मामला दर्ज किया गया तो नाबालिक युवती को पहले मेडिकल जाँच कराकर जो भी दोषी होंगे उस पर कड़ी करवाई करने की बात कही लेकिन कब तक करवाई होती है ये आने वाला समय ही बतायगा.

बहरहाल जो भी हो गरीबी के कारण झारखंड़ के नाबालिक युवती बाहर तो चली जाति है लेकिन सरकार को चाहिए की ऐसे दरिन्दों को युवती की न्याय दिलाने का प्रयास करे नही तो ऐसी घटनाएं लगातार होते रहेगी.