खूंटी: जिले के पर्यटन स्थल अब भी गुलजार है, दूर-दूर से आ रहे हैं पर्यटक

खूंटी: जिले के पर्यटन स्थल अब भी गुलजार हैं, दुर-दुर से आ रहे है पर्यटक - Panchayat Times

खूंटी. जिले के रमणीक पर्यटन स्थल अब भी गुलजार हैं. पर्यटकों का आना जाना लगातार जारी है. नक्सल मुक्त अभियान के बाद अब पर्यटक बेखौफ होकर जंगल पहाड़ों में खूंटी की वादियों का लुत्फ उठा रहे हैं.

खूंटी जिला जंगल पहाड़ों से आच्छादित तो है ही साथ ही कई नदी नालों और आकर्षक फॉल को समेटे हुए हर मौसम में पर्यटकों से गुलजार होता है. खूंटी के सबसे खूबसूरत फॉल की बात करें तो उसमें पहला नाम पेरवांघाघ का आता है. तोरपा से 9-10 किलोमीटर की दूरी पर स्थित पेरवांघाघ की प्राकृतिक छटा हर किसी को अपनी ओर आकर्षित करती है. पर्यटक मित्रों द्वारा एक दो नौका की व्यवस्था कर पर्यटकों को नौकाविहार भी कराया जाता है. 

जनवरी माह में पर्यटकों का आना जाना लगा रहता है. चारों ओर विशाल साल के वृक्ष और पेरवांघाघ में बहते पानी की कल-कल करती धारा पर्यटकों को आह्लादित कर देती है और पर्यटक झूमने लगते हैं. रांची के एक कॉलेज से आये पर्यटक पेरवांघाघ में जमकर नागपुरी सादरी गीतों पर थिरके और खूब मस्ती की.  

कोई भी पर्यटक जब पेरवांघाघ पहुंचता है तो इसकी प्राकृतिक छटा की तारीफ करते नहीं थकता. कैमरे में या अपने एंड्रॉयड मोबाइल में प्रत्येक पर्यटक इसकी एक नहीं दस से ज्यादा तस्वीर जरूर लेता है.