मुखाग्नि से पहले पुलिस शव को ले गई अपने साथ

शव को मुखाग्नि देने से पहले पुलिस शव को ले गई अपने साथ-Panchayat Times
प्रतीक चित्र

शिमला. श्मशान घाट में शव को मुखाग्नि देने से ठीक पहले पुलिस घटनास्थल पर पहुंचकर शव को चिता से उठा ले गई. संदिग्ध अवस्था में एक शख्स की मौत के बाद पुलिस को यह कदम उठाना पड़ा. मौत के कारणों की पड़ताल के लिए पुलिस की ओर से शव का पोस्टमार्टम करवाया जा रहा है.

चौंकाने वाला यह मामला शिमला जिले के रामपुर थाना क्षेत्र का है. पुलिस के मुताबिक 50 वर्षीय विकास मल्होत्रा पुत्र संजय मल्होत्रा रामपुर के एक निजी होटल में कर्मचारी था. वह होटल में पार्ट टाइम जाॅब करता था. गुरुवार को होटल परिसर में वह मृत अवस्था में पाया गया था. इसके बाद हाॅटल स्टाफ ने पुलिस को सूचित किए बिना अपने स्तर पर शव के अंतिम संस्कार की तैयारी कर ली और शव को लेकर श्मशान घाट पहुंच गए.

इसी बीच किसी ने स्थानीय पुलिस को इस बारे सूचित कर दिया. इसके बाद डीएसपी अभिमन्यु वर्मा के नेतृत्व में पुलिस दल श्मशानघाट पहुंचा और शव को चिता से उठाकर ले गया. डीएसपी ने बताया कि विकास मल्होत्रा की पोस्टमार्टम प्रक्रिया को पूरी करने के लिए शव का अंतिम संस्कार रोका गया है, ताकि मृत्यु के कारणों पर कोई सवाल न खड़ा हो.

उन्होंने कहा कि विकास मल्होत्रा होटल में पार्ट टाइम जाॅब करता था. निजी होटल स्टाॅफ बिना पुलिस को सूचित किए शव का अंतिम संस्कार कर रहा था. मौत के कारणों को जानने के लिए पोस्टमार्टम करवाया जाना जरुरी है. उन्होंने कहा कि अभी यह भी साफ नहीं हुआ है कि मृतक कहां का रहने वाला है. इस पूरे मामले में रामपुर पुलिस ने सीआरपीसी 174 के तहत केस दर्ज किया है.