नगर परिषद सुंदरनगर के भड़ोह में महिला मौत मामले में खुलने लगे कई राज

नगर परिषद सुंदरनगर के भड़ोह में महिला मौत मामले में खुलने लगे कई राज-Panchayat Times
नगर परिषद सुंदरनगर के भड़ोह में महिला मौत मामले में खुलने लगे कई राज

सुंदरनगर (मंडी). नगर परिषद सुंदरनगर के भड़ोह वार्ड में रविवार को 42 वर्षीय महिला ने फंदा लगा जान देने के मामले में अब कई राज खुलते दिख रहे हैं. महिला के पति और परिवार के अन्य सदस्यों ने पड़ोस में रहने वाली महिला पटवारी और उसके पति पर आरोप लगाया है की दोनों ने उमा देवी को मेंटली टॉर्चर करते थे.

पीड़ित पति अशोक ने कहा कि उसकी पत्नी उमा देवी को इनकी ओर से जान से मारने की धमकी हर समय दी जाती थी. जिसके दबाव में आ कर उसकी पत्नी ने तभी यह खौफनाक कदम उठाया और फंदा लगा कर जान दे दी है. मृतका के पति का कहना है कि मेरी पत्नी के गुनहगारो को जल्द सजा मिलनी चाहिए उसे इंसाफ मिल सके.

सुंदरनगर महिला फार्मासिस्ट की मौत, सास सहित तीनों ननद गिरफ्तार

आपको बता दें कि दोनों परिवारों के बीच लंबे समय से जमीनी विवाद चल रहा था और उसकी वजह से परेशान होकर उमा देवी ने आत्महत्या जैसा कदम उठा लिया. बता दें कि रविवार को की भड़ोह वार्ड की उमा देवी (42) पत्नी अशोक कुमार ने गौशाला में दुपट्टा बांधकर फंदे पर झूल गई. जिसे देवर ने कमरे में फंदे पर लटकते देखा और उसे नागरिक अस्पताल पहुंचाया, लेकिन वहां उसे मृत घोषित कर दिया गया. पुलिस ने अस्पताल पहुंच कर शव कब्जे में लिया और जांच शुरू कर दी है. पुलिस ने परिजनों के बयान पर आईपीसी की धारा 174 के तहत आत्महत्या का मामला दर्ज कर जांच कर रही है.

महिला ने लगाई फांसी, मायके पक्ष ने ससुराल पक्ष पर लगाया बेटी की हत्या करने का आरोप

उमा देवी की भांजी गायत्री देवी ने बताया की मेरा मासी के घर में आना जाना लगा रहता है और 15 अगस्त के दिन जब मेरे मासी के घर का लैंटर डाला जा रहा तो मासी की पड़ोसन ने यहां पर सभी अधिकारी बुलाएं और जब लैंटर पड़ गया. उसके बाद मासी को मेंटली टॉर्चर कर जान से मारने की धमकी दे रही थी और मासी इस बात से बहुत डरी और सहमी हुई थी. गायत्री का कहना है कि वह मासी को लगातर कुछ महीनों से जान से मारने की धमकी दे रही थी. उनका कहना है कि इन लोगों की वजह से मासी ने यह कदम उठाया है. उन्हें पुलिस और सरकार से गुहार लगाई है की मासी को इंसाफ दिलाया जाए.

मृतका के पति अशोक कुमार का कहना है की मेने अपने पड़ोस में रहने वाले लोगों को जमीन बेचीं और इनके की  ही मेरे परिवार और मेरी पत्नी को तंग किया गया. अशोक कुमार का कहना है कि इन लोगों ने मेरी पत्नी को इतना परेशान किया की इस ने फंदा लगा आत्महत्या कर ली. ये लोग मेरी पत्नी को हर बात पर धमकी देते थे की में खुद पटवारी लगी हु सभी कागज़ मेरे हाथ में है कुछ भी कर सकती हूं.

थाना प्रभारी गुरुबचन सिंह ने बताया की उमा देवी आत्महत्या मामले में पुलिस ने आईपीसी की धारा 174 के तहत मामला दर्ज किया है. गुरुबचन सिंह ने बताया की महिला के पति ने पुलिस को बयान दिया था की दोनों परिवारो के बिच मकान को लेकर कुछ विवाद चल रहा था. कुछ समय पहले समझोता भी हो चूका है. लेकिन, अगर मृतका के परिवार ने आरोप लगाया है तो उन की जांच की जाएगी और जो भी दोषी उन के खिलाफ कानूनी कार्रवाई की जाएगी. लेकिन, पुलिस अभी  पोस्टमार्टम रिपोर्ट का इंतजार कर रही है.