हिमाचल विधानसभा : उठा बाहरी राज्यों के लोगों को नौकरी देने का मामला

बाहरी राज्यों के लोगों को नौकरी देने का मामला हिमाचल विधानसभा में उठा- Panchayat Times

शिमला. हिमाचल से बाहर के लोगों को राज्य के सरकारी विभागों में नौकरी देने का मामला मंगलवार को प्रश्नकाल के दौरान विधानसभा में उठा.
कांग्रेस विधायक विनय कुमार के प्रश्न के उत्तर में मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने बताया कि एक जनवरी 2018 से 31 जुलाई 2019 के बीच प्रदेश के विभिन्न विभागों में 136 गैर हिमाचलियों को नौकरी पर रखा गया. इनमें 12 लोगों को आउटसोर्स आधार पर नौकरी दी गई. 

उन्होंने कहा कि पूर्व कांग्रेस सरकार के कार्यकाल में 197 बाहरी लोगों को हिमाचल में सरकारी नौकरी दी गई. इनमें से क्लास एक में 147, क्लास दो में 14, क्लास तीन में 16 और क्लास चार में 20 लोगों को सरकारी क्षेत्र में रोजगार दिया गया. 

उन्होंने कहा कि राज्य सरकार ने तृतीय श्रेणी में गैर हिमाचलियों को प्रदेश में नौकरी लेने से रोकने के लिए बाहरी राज्यों के उम्मीदवारों का दसवी और बाहरवीं हिमाचल के किसी भी स्कूल से पास करना जरूरी बनाया है, जबकि चतुर्थ श्रेणी के लिए आठवीं या दसवी की परीक्षा हिमाचल से पास करना जरूरी किया है. उन्होंने यह भी कहा कि हिमाचल से बाहर रहने वाले मूल हिमाचलियों के लिए प्रदेश से परीक्षा पास करने की कोई शर्त नहीं है.

उन्होंने यह भी कहा कि सरकार गैर हिमाचलियों को हिमाचल में तृतीय और चतुर्थ श्रेणी में सरकारी नौकरी लेने से रोकने के लिए धारा 371 के प्रावधानों को लागू करने पर विचार करेगी. जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश के बेरोजगारों को नौकरी देना सरकार की प्राथमिकता है और सरकार ने जो प्रावधान किए हैं, उससे बाहरी राज्यों के लोगों को हिमाचल में सरकारी क्षेत्र में रोजगार लेने पर काफी हद तक लगाम लगी है.