दो साल की कोरोना मरीज बच्ची को मां संग पहुंचाया गया अस्पताल

रेड जोन मुबंई से कांगड़ा लौटे छह लोग एक साथ कोरोना पाॅजिटिव- Panchayat Times
प्रतीक चित्र

चंबा. मां के सीने से लिपटकर कोरोना संक्रमित दो साल की मासूम शनिवार को आयुर्वैदिक अस्पताल (कोविड-19 अस्पताल) पहुंच गई. 108 एंबूलेंस में करीब अढ़ाई घंटे के सफर में मासूम बच्ची मां के सीने से लिपटी रही. जैसे ही अस्पताल पहुंची तो अपने पांव पर ही चहलकदमी करती नजर आई.

 इस मौके पर मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बच्ची की मां का हौंसला बढ़ाते हुए कहा कि मामूली सी भी घबराने की बात नहीं है. बच्ची का पिता बद्दी लौटकर घर आया था. यही कारण था कि वो भी कोरोना पॉजिटिव हो गई. हर कोई यही जानने की कोशिश कर रहा था कि अस्पताल में मासूम कैसे अकेले रह पाएगी. मगर विभाग ने बच्ची की मां को साथ रहने की इजाजत दे दी.


बताया जा रहा है कि सलूणी उपमंडल के हिमगिरी गांव में बच्ची का जहां घर है, वहां तक एंबूलेंस नहीं पहुंचती है. यही कारण है कि वो अपनी मां की गोद में पहले सड़क तक पहुंची. फिर तकरीबन अढ़ाई घंटे का सफर एंबूलेंस में तय किया.


अब उम्मीद यही की जा रही है कि जिस तरह से चंडीगढ़ के पीजीआई में 11 महीने की बच्ची को कोरोना मुक्त कर घर भेज दिया गया है, उसी तरह नन्हीं परी भी कोरोना को हराकर घर लौट आएगी.