बजट के बारे में वीरभद्र सिंह ने कही ये बड़ी बात

शहीदों के सम्मान में हिमाचल विधानसभा स्थगित -Panchayat Times
पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह

शिमला. हिमाचल विधानसभा में शनिवार को पेश किए गए बजट को पूर्व मुख्यमंत्री और वरिष्ठ कांग्रेस विधायक वीरभद्र सिंह ने एक सामान्य बजट बताया है. उन्होंने कहा कि यह बजट विकास पर केन्द्रित नहीं, बल्कि लोकसभा चुनाव को देखते हुए बनाया गया है.

अगर सरकार विकास के लिए ऋण ले रही है तो अच्छी बात है, लेकिन ऋण भी उतना ही लेना चाहिए, जो चुकाया जा सके. यह बजट भ्रमित करने वाला है, ताकि लोकसभा चुनाव में लोगों को लुभाया जा सके. प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने कहा कि यह बजट पूरी तरह से दिशाहीन एवं लोकसभा चुनाव के मद्देनजर बनाया गया है.

इस बजट में सिर्फ नई घोषणाओं पर जोर दिया है. संसाधनों को जुटाने पर कोई पहल नहीं की गई. विगत एक वर्ष में भाजपा की सरकार ने स्कूली बच्चों को न तो वर्दी दी और न ही लैपटाॅप वितरित किए. उन्होंने कहा कि पर्यटन की दृष्टि से हिमाचल का स्थान बहुत नीचे चला गया है. इस सरकार में बेरोजगारी बढ़ी गई है. किसानों और बागवानों की दुर्गति हुई है. इसके लिए प्रदेश सरकार के पास कोई भी योजना नहीं है.

राठौर ने कहा कि स्मार्ट सिटी के लिए कोई पैसा नहीं आया है और हेली टैक्सी योजना भी फेल हो चुकी है. जिस प्रकार केंद्र सरकार द्वारा पेश किए गए अंतिरम बजट आमजन के साथ एक धोखा है, उसी प्रकार इस बजट से भी लोगों को कोई खास उम्मीद नहीं है. चुनावी वर्ष को देखते हुए लोगों को झुनझुना थमाया जा रहा है. इससे वित्तीय घाटा और बढ़ेगा, जो हिमाचल के आर्थिक भविष्य के लिए उचित नहीं है.