रांची: ओरमांझी के आरा और केरम गांव में फसलों की सही देखभाल से तीन से चार गुना तक बढ़ गया उत्पादन

आरा और केरम गांव में फसलों की सही देखभाल से तीन से चार गुना तक बढ़ गया उत्पादन - Panchayat Times
AAra-Keram village's file photo

रांची. झारखंड में रांची के आरा केरम के ग्रामीण लॉकडाउन के बुरे वक्त को भी अवसर में बदलकर एकबार फिर चर्चा मे हैं. ग्रामीणों ने लॉकडाउन के दौरान अपने खेतों मे रिकॉर्ड उत्पादन किया है.

लॉकडाउन की अवधि में गांव से बाहर कोई नहीं निकला

ग्रामीणों के मुताबिक लॉकडाउन की अवधि में गांव से बाहर कोई नहीं निकला और अपनी पूरी क्षमता का इस्तेमाल फसलों की देखभाल मे लगाया, जिसका परिणाम यह हुआ कि पिछले साल से तीन से चार गुना उत्पादन हुआ.

आरा और केरम गांव में फसलों की सही देखभाल से तीन से चार गुना तक बढ़ गया उत्पादन - Panchayat Times

खेती पूरी तरह जैविक आधारित

आरा केरम में खेती पूरी तरह जैविक आधारित है और व्यापारी गांव से ही उनके उत्पाद खरीद ले जाते हैं, जिससे उन्हें बाजार की समस्या नहीं होती और फसलों की सही कीमत भी मिल जाती है.

प्रधानमंत्री ने मन की बात कार्यक्रम मे इसकी चर्चा कर इस गांव को विश्व पटल पर ला दिया

आरा केरम गांव नशामुक्त होने के बाद सबसे पहले सुर्खियों मे आया था. फिर, प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने मन की बात कार्यक्रम मे इसकी चर्चा कर इस गांव को विश्व पटल पर ला दिया. अपनी बौद्धिक क्षमता और कार्यकुशलता का परिचय देकर यह गांव फिर से नजीर बन गया है.