ये क्या हुआ सोलन के पीजी कॉलेज में…

सोलन. गुरुवार को सोलन के पीजी कॉलेज में जबरदस्त हंगामा हुआ. एबीवीपी और एसएफआई ने एक दूसरे के खिलाफ प्रदर्शन किया. बेहद हंगामे में एसएफआई ने उग्र प्रदर्शन किया और कॉलेज के मुख्य द्वार को बंद कर दिया. वहीं एबीवीपी ने हर हाल में गेट को खोलने का प्रयास किया इसी को देखते हुए पुलिस का बीच-बचाव के लिए उतरना पड़ा.

एसएफआई ने कॉलेज के भीतर किसी भी विद्यार्थी को जाने नहीं दिया. वहीं कॉलेज में एबीवीपी का धरना प्रदर्शन भी जारी रहा. एसएफआई की मनमानी को देख एबीवीपी भी सुर्ख नज़र आई. दोनों ओर से नारेबाजी होने लगी. एबीवीपी ने जबरन बंद किए गेट को खुलवाने के लिए जोर डाला. कुछ देर में पुलिस कॉलेज में पहुंची और बंद गेट को खुलवाया गया तब जाकर विद्यार्थी कॉलेज के अंदर प्रवेश कर सके. दोनों छात्र संगठन के आमने-सामने आने से कॉलेज में तनाव का माहौल देखा गया. जिसके बाद पुलिस ने आकर बीच-बचाव कर माहौल को शात करवाया.

ये भी पढ़ें- भारी बारिश के कारण कांगड़ा में बंद रहेंगे शैक्षणिक संस्थान

पीजी कॉलेज एसएफआई ईकाई के सेक्रेटरी पंकज शर्मा ने कहा कि वह कॉलेज प्रशासन की अनुमति से वहां धरना प्रदर्शन कर रहे हैं लेकिन कॉलेज प्रशासन ने पुलिस से मिलकर उनके प्रदर्शन को दबाने की कोशिश की. उन्होंने कहा कि उनके संगठन की मांग है कि छात्र चुनावों को फिर से बहाल किया जाए. पंकज शर्मा ने कहा कि इस मुद्दे को लेकर एबीवीपी दिखावा कर रही है क्योंकि प्रदेश में भाजपा सरकार है. उनके मुख्यमंत्री और अन्य मंत्री भी इन्हीं चुनावों से चुनकर आगे पहुंचे है लेकिन उसके बावजूद भी छात्र चुनावों को बहाल नहीं किया जा रहा है.

जब इस बारे में एबीवीपी कार्यकर्ता से पूछा गया तो उन्होंने बताया कि कॉलेज में भूख हड़ताल कर रहे हैं. धरना प्रदर्शन करने के अन्य कई मार्ग भी हैं लेकिन एसएफआई ने कॉलेज का गेट बंद किया जो ठीक नहीं है. शिक्षा के द्वार कभी बंद नहीं होने चाहिए और विद्यार्थियों की शिक्षा प्रभावित नहीं होनी चाहिए. उन्होंने कहा कि विद्यार्थी दूर-दूर से कॉलेज में शिक्षा ग्रहण करने आते हैं लेकिन अगर इस तरह से कॉलज का गेट बंद होगा तो विद्यार्थियों की शिक्षा प्रभावित होगी. इसलिए उन्होंने कॉलेज प्रशासन के साथ मिलकर गेट को खुलवाया है.