प्रशासन ने रोहतांग टनल से सप्ताह में दो दिन लोगों को आर-पार करने का लिया फैसला

कुल्लू. बर्फबारी को देखते हुए लाहौल-स्पीति प्रशासन ने रोहतांग टनल से सप्ताह में दो दिन आपात स्थिति में लोगों को आर-पार करने का फैसला लिया है. लोग बीआरओ की बस में ही सप्ताह में दो दिन सुरंग आर-पार कर सकेंगे.

बता दें कि बीआरओ ने बीते सितंबर में ही रोहतांग सुरंग के छोर जोड़ दिए थे. छोर जुड़ने से सर्दियों में लाहौल घाटी के लोगों को राहत मिली है. बीआरओ की माने तो रोहतांग सुरंग के आकार को साकार रूप देने के लिए कुछ समय लगेगा.
बीआरओ का दावा है कि 2019 में सुरंग ट्रैफिक के लिए बहाल कर दी जाएगी. एसडीएम केलंग अमर नेगी ने बताया कि अगले सप्ताह से लाहौल के लोगों को आपात स्थिति में सुरंग को आर-पार करने की सुविधा मिल जाएगी.

गौर रहे कि बर्फबारी के चलते रोहतांग दर्रा के बंद होने से घाटी के बीमार और जरूरतमंद लोगों को हेलीकॉप्टर सेवाओं का इंतजार करना पड़ता है, लेकिन अब रोहतांग टनल से जरूरतमंद लोगों को बड़ी राहत मिलेगी. घाटी के लोगों ने जिला प्रशासन की इस कवायद को सराहा है. लाहौल में रह रहे लोग जरूरत पड़ने पर हर हफ्ते सोमवार और वीरवार को दो दिनों तक आ जा सकेंगे. इसके लिए उन्हें प्रशासन से अनुमति लेना जरूरी होगी. प्रशासन ऐसे लोगों को अनुमति देगी. जिनका घाटी से बाहर आना जाना जरूरी है। वहीं रेफर मरीज किसी भी समय टनल से होकर निकल सकेंगे.