छात्रा का शव मिलने के बाद वीरान हुआ आवासीय बालिका विद्यालय

जामताड़ा. कस्तूरबा गांधी आवासीय बालिका विद्यालय दुलाडीह जामताड़ा में छात्रा का शव मिलने के बाद स्कूल से छात्राओं का पलायन जारी है. ज्यादातर छात्राएं स्कूल छोड़ चुकी हैं. मालूम हो कि शनिवार को नौवीं की छात्रा का शव बाथरूम के शॉवर से लटका हुआ मिला था.

स्कूल में कुल 518 छात्राएं पढ़ाई करती हैं. फिलहाल स्कूल में 20 छात्राएं ही बच गई है. छात्राएं घटना के बाद डरी हुई हैं. अभिभावक स्थिति सामान्य होने तक अपने बच्चों को स्कूल नहीं भेजना चाहते हैं.

अभिभावक पारस मंड और शफीक आलम ने कहा कि घटना के बाद से छात्राओं में भय है. यह मामला हत्या का है या आत्महत्या इसकी पूरी जांच की जानी चाहिए. इनके अलावे अन्य अभिभावक सुनील कुमार, निलोफर यास्मीन ने कहा कि स्कूल प्रबंधन समिति व अभिभावकों की बैठक होनी चाहिए.

 

स्कूल में तय सीमा से अधिक छात्राएं हैं, जिससे उनके रहने में दिक्कतो का सामना भी करना पड़ता है.