अजमेर शहर की यातायात समस्या जल्द होगी हल

अजमेर शहर की यातायात समस्या जल्द होगी हल
प्रतीक चित्र

जयपुर. शिक्षा राज्यमंत्री वासुदेव देवनानी ने सोमवार को विभिन्न वार्डों में सड़क निर्माण कार्यो का शुभारंभ किया. उन्होंने यहां पर कहा कि स्मार्ट सिटी योजना के तहत 220 करोड़ की लागत से बनने वाला एलिवेटेड रोड (ऊंची सड़क) शहर की लाइफ लाइन साबित होगी. इससे शहर की यातायात समस्या स्थाई रूप से हल होगी. पिछले साढ़े चार साल में अजमेर शहर में सैंकड़ों करोड़ रुपए के कार्य कराए गए हैं. इन विकास कार्यों से अजमेर पर्यटन के नए हब के रूप में विकसित होगा.

उन्होंने आगे कहा कि अजमेर शहर विकास के नए आयाम तय कर रहा है. केंद्र और राज्य की लगभग सभी महत्वपूर्ण योजनाएं अजमेर शहर में लागू की गई हैं. केंद्र सरकार की स्मार्ट सिटी योजना, अमृत, ह्रदय, आइकोनिक सिटी, आईपीडीएस (विद्युत सुधार) और अन्य फ्लैगशिप योजनाओं से शहर के लोग लाभान्वित हो रहे हैं. केंद्र की इन योजनाओं से शहर में दो हजार करोड़ से ज्यादा के काम होंगे. इसी तरह राज्य सरकार की तमाम फ्लैगशिप योजनाओं के साथ ही बजट में करोड़ों रुपए के प्रावधान कर शहर को विकसित बनाया जा रहा है.

देवनानी ने कहा कि शहर में यातायात जाम सबसे बड़ी समस्या थी. स्टेशन रोड, कचहरी रोड और पृथ्वीराज मार्ग आदि मार्गों से शहर की अधिकतम ट्रैफिक गुजरता है. हजारों लोग रोजाना ट्रैफिक जाम की समस्या से जूझते हैं. हमने इस समस्या का स्थाई हल निकाल लिया है. स्मार्ट सिटी योजना के तहत 220 करोड़ रुपए की लागत से बनने वाले एलीवेटेड रोड का काम शुरू करवा दिया गया है. कई सालों से शहर का सपना था कि ऐतिहासिक आनासागर झील भी उदयपुर, अहमदाबाद एवं दूसरे शहरों की तर्ज पर विकसित हो. यहां घूमने के लिए चौपाटी बने.