पलामू की सभी पंचायतों में गठित होगी आकस्मिक खाद्यान्न निधि

पंचायती राज संस्थानों को पुरस्कार प्रदान किए जाएंगे - Panchayat Times
प्रतीक चित्र

पलामू (रांची). उपायुक्त पलामू डॉ. शातनु कुमार अग्रहरि ने कहा कि सभी पंचायतों में आकस्मिक खाद्यान निधि का गठन किया जाएगा. जिला प्रशासन ने सुखाड़ और भूख की स्थिति को देखते हुए पहले से ही इस तरह की तैयारी शुरू कर दी गई. सोमवार को अपने कार्यालय में मीडिया मिलन संवाद कार्यक्रम में पत्रकारों से बात करते हुए उपायुक्त ने कहा कि सरकारी योजनाओं के क्रियान्वयन के साथ-साथ जिला प्रशासन लोगों को किसी भी तरह के आपदा एवं परेशानी से बचाने को लेकर तत्पर और क्रियाशील है.

उपायुक्त ने कहा कि सुखाड़ को देखते हुए 21 प्रखंडों के सभी राजस्व ग्रामों में फसलों की स्थिति का जायजा लेने के लिए टीम गठित की गई है. टीम इन गांवों में लगी फसलों के संबंध में जानकारी प्राप्त करेगी. टीम को फसल के विभिन्न स्टेज, फल तथा दानों के बारे में जानकारी लेकर 8 नवम्बर तक रिपोर्ट सौंपने को कहा गया है. इसके साथ ही सभी 283 पंचायतों में आकस्मिक खाद्यान्न निधि के लिए 10 हजार रुपए अग्रिम राशि उपलब्ध कराई गई है.

उपायुक्त ने कहा कि कहीं भी किसी तरह की आपदा और भूख की स्थिति देखे जाने पर उन्हें सीधे सूचित किया जा सकता है. उपायुक्त ने बताया कि छत्तरपुर, पाटन और बिश्रामपुर प्रखंड में वहां की स्थिति का जायजा लेने के लिए टीम आच्छादन के साथ-साथ नमी की स्थिति का भी आकलन कर रही है.

उपायुक्त द्वारा सभी 2,450 स्कूलों में मध्याह्न भोजन सुचारू रूप से चलाने के साथ ही आदिम जनजातियों को डाकिया योजना के तहत दिए जाने वाले राशन के कार्यक्रम को कारगर किए जाने की बात कही. आंगनबाड़ी बंद पाए जाने पर होगी सेविकाओं पर कार्रवाई डीसी अग्रहरि ने भी कहा कि आंगनबाड़ी बंद पाए जाने पर सेविकाओं के खिलाफ कारवाई होगी. चापानल की मरम्मत तथा विशेष मरम्मत को लेकर कोष की मांग किए जाने की जानकारी भी उपायुक्त ने दी. दो हजार लाभुकों के गलत डाटा ठीक किए गए.

उपायुक्त डॉ. शांतनु ने सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना के तहत दो हजार लाभुकों के गलत डाटा को ठीक करने और शेष बचे लाभुकों के डाटा संबंधी त्रुटियों को दूर करते हुए एक सप्ताह के अन्दर पेंशन स्वीकृत किए जाने की जानकारी दी.