जींद : ललितखेड़ा में पशु अस्पताल का निर्माण शुरू

ललितखेड़ा गांव में पशु अस्पताल का निर्माण कार्य का शुभारंभ - Panchayat Times
प्रतीक चित्र

जींद. डीसी अमित खत्री ने सोमवार को ललितखेड़ा गांव में पशु अस्पताल का निर्माण कार्य का शुभारंभ किया. इस अवसर पर पशुपालन विभाग के उपनिदेशक एनडी गोयल और गांव के सरपंच वेदपाल मलिक सहित सरकारी विभागों के अधिकारी मौजूद रहे.

डीसी ने बताया कि ललित खेड़ा गांव में पशु अस्पताल के बनने से आसपास के कई गांवों के पशुपालकों को फायदा पहुंचेगा. आज के समय में किसानों के लिए पशुपालन एक बहुत बड़ा व्यवसाय है. कृषि के साथ पशुपालन कर किसान अपनी आय बढ़ोतरी करने में सफल रहते हैं. पशुओं को गांव में ही चिकित्सा सुविधाएं उपलब्ध हो तो पशुपालन और भी लाभकारी व्यवसाय बन जाता है.

साल के अंत तक पूरा होगा निर्माण कार्य

इस पशु अस्पताल का निर्माण कार्य इस वर्ष के अंत तक पूरा करवा जाएगा. पशु अस्पताल के निर्माण कार्य पर लगभग 28 लाख रुपए की राशि खर्च की जाएगी. उन्होंने निर्माण कार्य से जुड़े विभागों के अधिकारियों को निर्देश दिए कि वह इस विकास परियोजना में बढिय़ा गुणवता की निर्माण सामग्री प्रयुक्त करना सुनिश्चित करें.

ललितखेड़ा गांव में पशु अस्पताल का निर्माण कार्य का शुभारंभ - Panchayat Times
डीसी अमित खत्री

पशु अस्पताल में आधुनिक सुविधाएं उपलब्ध होंगी 

अस्पताल के भवन में एक ओपीडी कमरा, वेटिंग रूम, डिस्पैंसरी रूम, लेबोटरी रूम, स्टोर तथा महिला तथा पुरूषों के लिए अलग-अलग शौचालय की व्यवस्था होगी. भवन का निर्माण कार्य पूरा होते ही यह हस्पताल काम करना शुरू कर देगा ताकि पशुपालकों को पशुओं की बीमारी दूर करवाने में कोई दिक्कत न हो. उन्होंने कहा कि जिला में 234 पशु अस्पताल संचालित है. जिला स्तर पर एक वेटनरी पॉलिक्लिनिक पशु अस्पताल भी स्थापित हो चुका है. इस वेटनरी पॉलिक्लिनिक में पशुओं की गंभीर से गंभीर बीमारियों का इलाज किया जा रहा है. उन्होंने पशुपालकों से कहा कि वे पशु हस्पतालों में सरकार की ओर से उपलब्ध करवाई जा रही सेवाओं का भरपूर लाभ प्राप्त करें.

ललितखेड़ा को मिला है टू स्टार का दर्जा

पशु अस्पताल का निर्माण कार्य शुरू होने के बाद गांव की चौपाल में ललित खेड़ा गांव को दो स्टार गांव का दर्जा मिलने के उपलक्ष पर एक कार्यक्रम का आयोजन किया गया. इस कार्यक्रम में गांव के सरपंच ने बताया कि गांव के विकास को लेकर सरकार द्वारा खूब धनराशि उपलब्ध करवाई जा रही है. जिसकी बदौलत गांव में अनेक विकास कार्य समपन्न हुए है. अबतक विकास कार्यों पर लगभग डेढ़ करोड़ रुपये की धनराशि खर्च की जा चुकी है. उन्होंने कहा कि ग्राम पंचायत के खाते में 50 लाख रुपये की और धनराशि आई हुई है. इस राशि से तालाब की रिटर्निंग वॉल, गली का निर्माण तथा अनेक कार्य करवाए जाएंगे.