सांसद से मांगा हिसाब, बताएंं नगर परिषद के विकास कार्यों पर कितना खर्च किया : अजय धरवाल

जोगिंद्रनगर (मंडी). बुधवार को नगर परिषद जोगिंद्रनगर के पार्षद एंव पूर्व उपाध्यक्ष अजय धरवाल ने मंडी के सांसद राम स्वरूप शर्मा से जवाब मांगा है. उन्होंने जवाब मांगा है कि सांसद बताएंं कि अपने कार्यकाल के दौरान उन्होंने नगर परिषद जोगिंद्रनगर के लिए क्या किया है ?

जोगिंद्रनगर में बुधवार को आयोजित एक पत्रकार वार्ता को सम्बोधित करते हुए अजय धरवाल ने कहा कि नगर परिषद जोगिंद्रनगर के लिए सांसद का कार्यकाल निराशाजनक ही रहा और सांसद महोदय ने सांसद निधि के आवंटन में नगर परिषद जोगिंद्रनगर को पीठ ही दिखाई है.

अजय धरवाल ने कहा कि नगर परिषद के पिछले कार्यकाल में उपाध्यक्ष के नाते उन्होंने केंद्र सरकार को वर्ष 2014 में अर्बन इन्फ्रास्ट्रक्चर डेवलपमेंट योजना के अन्र्तगत समस्त सात वार्डों के लिए लगभग 16 करोड़ 13 लाख रुपए और कूड़ा संयत्र के लिए लगभग एक करोड़ 96 लाख रुपए की योजना की डी.पी.आर स्वीकृति के लिए भेजी थी.

उन्होंने कहा कि इसके लिए सांसद महोदय का नगर परिषद कार्यालय में स्वागत कर इन दोनों योजनाओं को केंद्र से स्वीकृत करवाने का आग्रह किया था. सांसद महोदय ने उन्हें आश्वस्त किया था कि वर्ष 2015 के बजट में दोनों योजनाओं के लिए धन की स्वीकृति करवा कर नगर परिषद का विकास किया जाएगा, लेकिन, सांसद महोदय की कार्यप्रणाली निराशाजनक ही रही तथा उन्होंने मात्र केंद्रीय मंत्री को पत्र लिखने के पश्चात कुछ नहीं किया परिणाम स्वरूप दोनों योजनांए खटाई में पड़ गई.

अजय धरवाल ने कहा कि सांसद महोदय को जवाब देना चाहिए कि उन्होंने क्यों इस मामले में आश्वासन के पश्चात कुछ नही किया और इसके लिए धन न उपलब्ध करवा पाए. नगर परिषद पार्षद ने आरोप लगाया कि सांसद ने नगर परिषद की लगभग 7 हजार आबादी को ठगा है. नगर परिषद के विकास कार्यो में सांसद का अब तक का योगदान शून्य रहा है.

जिसका सांसद को जवाब देना चाहिए. अन्यथा नगर परिषद की जनता वर्ष 2019 में आने वाले चुनावों में इसका हिसाब लेगी. इस अवसर पर नगर परिषद जोगिंद्रनगर के पूर्व मनोनीत पाषर्द रमन बहल और केशव कुमार भी उपस्थित थे.