पंचतत्व में विलीन हुए अटल बिहारी वाजपेयी, दत्तक पुत्री नमिता ने दी मुखाग्नि

Namita Kaul Bhattacharya

नई दिल्ली. राजधानी दिल्ली के राष्ट्रीय स्मृति स्थल में पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी को उनकी दत्तक पुत्री नमिता कौल भट्टाचार्य ने मुखाग्नि दी. इससे पहले राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री सहित तमाम छोटे-बड़े नेताओं ने उनको अंतिम श्रद्धांजलि दी. भाजपा के मुख्यालय से अटल जी की अंतिम यात्रा निकाली गई. जिसमें प्रधानमंत्री सहित कई नेता और परिजन पैदल चले. इस अंतिम यात्रा के दौरान हजारों की संख्या में लोग अपने प्रिय नेता को अश्रूपूर्ण विदाई दे रहे थे. उनके अंतिम दर्शन की लालसा लिये हजारों की संख्या में लोग सड़कों पर खड़े दिखे.

Namita Kaul Bhattacharya

इससे पहले देश के पूर्व प्रधानमंत्री अटल बिहारी वाजपेयी का पार्थिव शरीर कृष्ण मेनन मार्ग के आवास से भाजपा के दिल्ली स्थित मुख्यालय लाया गया. जहां हजारों लोगों ने अंतिम दर्शन किए. गुरुवार शाम पांच बजकर पांच बजे उन्होंने एम्स में अंतिम सांस ली. लगभग शाम पांच बजे राष्ट्रीय स्मृति स्थल पर उनका अंतिम संस्कार किया गया.

Namita Kaul Bhattacharya

ये भी पढ़ें- भाजपा मुख्यालय में अटल जी के अंतिम दर्शन करने पहुंचे देशभर से लोग

वाजपेयी को मूत्र संबंधी संक्रमण के कारण 11 जून को एम्स में भर्ती कराया गया था. जहां पिछले 36 घंटों में उनकी हालत और ज्यादा खराब हुई, जिसके बाद लाइफ सपोर्ट सिस्टम के सहारे उनको जिंदा रखा जा रहा था. 93 साल की उम्र में उन्होंने एम्स में आखिरी सांस ली.