प्रशासनिक सहयोग से हुआ लोहरदगा दंगा : बाबूलाल मंराडी

उच्च न्यायालय के न्यायाधीश की अध्यक्षता में हो लोहरदगा दंगा का निष्पक्ष जांच : बाबूलाल मरांडी-Panchayat Times

रांची. पूर्व मुख्यमंत्री और भाजपा विधायक दल के नेता बाबूलाल मरांडी के नेतृत्व में पार्टी का एक प्रतिनिधिमंडल लोहरदगा दौरे पर पहुंचकर पिछले दिनों लोहरदगा में हुए दंगा पीड़ितों के परिजनों से मुलाकात की. प्रतिनिधि मंडल दंगा में मरने वाले नीरज राम प्रजापति के घर जाकर परिजनों से भी  मुलाकात की. 

प्रतिनिधि मंडल में प्रदेश उपाध्यक्ष प्रदीप वर्मा, महामंत्री और सांसद सुनील सिंह, सांसद सुदर्शन भगत, एसटी मोर्चा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष डॉ. अरुण उरांव, पूर्व विधायक सुखदेव भगत, गंगोत्री कुजूर शामिल थे.

उच्च न्यायालय के न्यायाधीश की अध्यक्षता में हो लोहरदगा दंगा का निष्पक्ष जांच : बाबूलाल मरांडी-Panchayat Times

इस अवसर पर पत्रकारों से बातचीत करते हुए मरांडी ने कहा कि सीएए के समर्थन जुलूस पर हुए पथराव, आगजनी, बड़े पैमाने पर हुए तोड़ फोड़ एवम लूट की घटना एक सुनियोजित षड्यंत्र के तहत कराई गई है, जिसमें प्रशासनिक संलिप्तता है. उन्होंने कहा कि प्रशासन के लिखित इजाजत के बाद शहर में जुलूस निकाला गया था. बावजूद इसके प्रशासन ने सतर्कता नहींं बरती. सरकार का खूंफिया तंत्र विफल रहा. समर्थन जुलूस पूरी तरह शांतिपूर्ण था फिर भी हजारों की भीड़ पर पथराव हुआ, सैकड़ो वाहनों को आग के हवाले कर दिया गया, घरों में आग लगाए गए, करोड़ों की संपत्ति लूट ली गई. 

बाबूलाल मरांडी कल लोहरदगा के दौरे पर, दंगा पीड़ित परिवार से करेंगे मुलाकात

उन्होंने कहा कि इतनी बड़ी घटना को सरकार के मंत्री छोटी घटना बताकर इस पर पर्दा डाल रहे हैं. जबकि स्थिति यह है कि लोहरदगा में लंबे समय तक कर्फ्यू लगा रहा, आज भी कई लोग दहशत में है तथा घर से बाहर यत्र तत्र रहने को विवश हैं. उन्होंने कहा कि सरकार ने आज तक पीड़ितों की सूध नहींं ली, मृतक के परिजन से मुलाकात नहींं की. मरांडी ने कहा कि दोषी  खुलेआम घूम रहे है. प्रशासन द्वारा पीड़ितों के शिकायत पर प्राथमिकि तक दर्ज नहींं किये जा रहे.

मरांडी ने कहा कि घटना की न्यायिक जांच उच्च न्यायालय के वर्तमान न्यायाधीश की अध्यक्षता में गठित कमिटी से कराई जाय, घटना के जिम्मेवार प्रशासनिक अधिकारियों को भी दंडित किया जाय, दोषियों की गिरफ्तारी हो तथा पीड़ित परिवार की नष्ट संपत्ति का शीघ्र मुआवजा मिले.मृतक नीरज राम प्रजापति के परिजन को भी मुआवजा मिले.