14 साल बाद बाबूलाल मरांडी की भाजपा में होगी वापसी

कोरोना वायरस महामारी से उपजे संकट से हर वर्ग प्रभावित है : बाबूलाल मरांडी- Panchayat Times

रांची. करीब 14 साल बाद झारखंड विकास मोर्चा (झाविमो) प्रमुख बाबूलाल मरांडी की भाजपा में वापसी होगी. इसके लिए तारीख आखिरकार तय हाे गई है. रांची में 17 फरवरी काे एक भव्य कार्यक्रम में झाविमो का भाजपा में विलय हाेगा. गृह मंत्री अमित शाह की माैजूदगी में झाविमाे प्रमुख बाबूलाल मरांडी इसकी घाेषणा करेंगे. इस दाैरान भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ओमप्रकाश माथुर भी माैजूद रहेंगे.

मरांडी ने रविवार दाेपहर दिल्ली में भाजपा अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुलाकात की. माथुर की माैजूदगी में तीनाें नेताओं की करीब 1 घंटे तक बैठक चली. इसमें पार्टी के विलय को लेकर कई बिंदुओं पर चर्चा हुई. आखिरकार तय हुआ कि 17 फरवरी को रांची में कार्यक्रम कर विलय की घोषणा की जाए.

11 को केंद्रीय कार्यसमिति की बैठक

झाविमाे ने 11 फरवरी काे केंद्रीय कार्यसमिति की बैठक बुलाई है. इसमें झाविमाे का भाजपा में विलय का प्रस्ताव पास किया जाएगा. पारित प्रस्ताव काे भाजपा के केंद्रीय नेतृत्व काे भेजा जाएगा. इस पर औपचारिक स्वीकृति के बाद दाेनाें पार्टियां सामूहिक रूप से इसे भारत निर्वाचन आयाेग काे भेजेगी. आयाेग की सहमति मिलने के बाद दाेनाें पार्टियां 17 फरवरी काे रांची में विलय समाराेह का आयाेजन करेगी.

नड्‌डा और शाह से मिलने के बाद रांची लौट आए बाबूलाल मरांडी

मरांडी रविवार देर शाम रांची लौट आए. इससे पहले शनिवार देर शाम बाबूलाल ने अमित शाह से मुलाकात की थी. फिर रविवार काे नड्डा के साथ बैठक की. बाबूलाल ने अमित शाह से समाराेह में शामिल हाेने का आग्रह किया था. अब तय हुआ कि समाराेह में शाह के साथ ही माथुर भी माैजूद रहेंगे. समाराेह में नड्डा के भी आने की संभावना है.

भाजपा बोली- संगठन सशक्त हाेगा
मरांडी रविवार काे जिस समय दिल्ली में भाजपा अध्यक्ष से मुलाकात कर रहे थे, उसी समय रांची में भाजपा के राष्ट्रीय संगठन मंत्री बीएल संताेष और राष्ट्रीय महामंत्री अरुण सिंह भी प्रदेश पदाधिकारियाें से माैजूदा स्थिति पर चर्चा कर रहे थे. बैठक के बाद भाजपा नेताओं ने कहा कि इस सकारात्मक पहल से संगठन और भी सशक्त हाेगा.