बद्दी में गांववालों ने कहा एकसाथ त्याग देंगे प्राण

बद्दी में सीईटीपी केंदूवाला और साथ लगते कचरा प्लांट से उठती दुर्गंध से गांव के लोग

सोलन. बद्दी में सीईटीपी केंदूवाला और साथ लगते कचरा प्लांट से उठती दुर्गंध से गांव के लोग इतना परेशान हैं कि वह अब राष्ट्रपति और राज्यपाल से इच्छा मृत्यु की मांग करने जा रहे हैं. इनका कहना है कि वह जिला प्रशासन से कई बार इस समस्या के बारे में बता चुके हैं लेकिन जिला प्रशासन उनकी कोई भी सुनवाई नहीं कर रहा है. यही कारण है कि वह कचरे से उठती हुई दुर्गंध को झेलने पर मजबूर हैं.

तीन दिन पहले ग्रामीण सीईटीपी और प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के अधिकारियों का रास्ता रोकने की भी चेतावनी दे चुके हैं. ग्रामीणों ने बताया कि केंदूवाला स्थित सीईटीपी प्लांट और बिल्कुल साथ सटे कचरा प्लांट की बदबू ने लोगों का जीना दूभर कर दिया है. ग्रामीणों की माने तो कचरे से उठती हुई बदबू के कारण वह अपने घरों में रिश्तेदारों और मेहमानों को आमंत्रित तक नहीं कर सकते.

ये भी पढ़ें- हिमाचल में सरेआम पुलिस कांस्टेबल की हत्या

यहां तक की उन्हें खाना खाने में भी बेहद परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. अपने घरों के दरवाजे और खिड़कियां तक वह गर्मी के मौसम में खोल नहीं पा रहे हैं. जिसकी वजह से जहां एक और वह लंबे समय से दुर्गंध का सामना कर रहे थे अब वह उसके साथ-साथ गर्मी को भी झेलने पर मजबूर हैं. जिससे उनका जीवन नर्क से भी बदतर हो चुका है. लेकिन उनकी शिकायत पर आला अधिकारी चुप्पी साधे हुए हैं यही कारण है कि गांववाले अब इच्छा मृत्यु की मांग कर रहे हैं.