मॉनसून से पहले कुल्लू में भूस्खलन, 10 किलोमीटर सड़क बाधित

कुल्लू में बारिश के बाद भूस्खलन के कारण 10 किमी सड़क पर जगह-जगह मलबे

कुल्लू. हिमाचल में मॉनसून शुरू होने से पहले ही प्रकृति ने कहर बरपाना शुरू कर दिया है. बारिश के कारण प्रदेश के अलग-अलग जिलों में यातायात प्रभावित हो रहे हैं. बीते गुरुवार को कुल्लू में बारिश के बाद भूस्खलन के कारण 10 किमी सड़क पर जगह-जगह मलबे के ढ़ेर लग गए हैं. कुल्लू के उपमंडल आनी के लूहरी-निमला के बीच भारी बारिश के बाद भूस्खलन होने से एनएच-305 यातायात के लिए पूरी तरह से अवरूद्ध हो गया है. यहां लगभग दस किमी सड़क पर जगह जगह मलबे के ढ़ेर लग गए हैं. जिससे आनी-लूहरी के बीच गाड़ियों की आवाजाही बंद हो गई है.

कुल्लू में बारिश के बाद भूस्खलन के कारण 10 किमी सड़क पर जगह-जगह मलबेरोड बंद होने के कारण एक ड्रिल मशीन समेत कई छोटे-बड़े वाहन सड़क में फंस गए हैं. क्षेत्र के लोगों के साथ-साथ बाहरी जिलों के यात्रियों को भी सड़क बंद होने के कारण दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है. भारी बारिश के कारण सड़कों पर पानी भरने लगा तो लोगों को अपने वाहन छोड़कर जान बचाने के लिए भागना पड़ा. एनएच प्राधिकरण युद्ध स्तर पर सड़क बहाली के कार्य में जुट गया है. एसडीओ सुनील गुप्ता ने बताया कि बहाली का कार्य जारी है. जल्द ही सड़क को बहाल कर दिया जाएगा.

ये भी पढ़ें- राष्ट्रपति से हिमाचल के इस गांववालों ने सामूहिक इच्छा मृत्यु …