दिल्ली चुनाव नतीजों को लेकर फैलाई गई सबसे बड़ी फेक न्यूज

दिल्ली चुनाव नतीजों को लेकर फैलाई गई सबसे बड़ी फेक न्यूज-Panchayat Times

नई दिल्ली. हर चुनाव अपने साथ फर्जी खबरों की एक लहर, झूठे दावे और भ्रामक जानकारी लेकर आता है. ऐसा ही एक मामला हाल ही में दिल्ली चुनाव के आए नतीजे में देखने को मिला. एक व्हाट्सएप फॉरवर्ड मैसेज ने दावा किया कि बीजेपी ने 100 वोटों के अंतर से कुल 8 सीटें खो दीं, 19 सीटें 1000 वोटों से कम और 9 सीटों पर 2000 से कम वोटों से हार गई.

दावे को आगे बढ़ाते हुए, 12 फरवरी को, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के सांसद सत्यदेव पचौरी ने ट्वीट किया, “इसे जीती गई सीटों में जोड़ें: 8 यह 44 सीटों पर आती है 3% अधिक मतदान पूरे खेल को बदल सकता था.” हालांकि इस ट्वीट को अब डिलीट कर दिया गया है.

दिल्ली चुनाव नतीजों को लेकर फैलाई गई सबसे बड़ी फेक न्यूज-Panchayat Times

बता दें कि भाजपा दिल्ली चुनाव में 70 में से केवल आठ विधानसभा सीटों पर अपनी जीत दर्ज की वही एक बार फिर आम आदमी पार्टी (आप) सरकार बनाने के लिए चुना गयाऔर कांग्रेस एक भी सीट नहीं जीत पाई.

वायरल मैसेज में कहा गया है कि 8 सीटों के अलावा, भाजपा हार गई: 100 से कम वोटों के अंतर के साथ 8 सीटें. 1000 से कम मतों के अंतर से 19 सीटें. 2000 मतों के अंतर वाली 9 सीटें. यह जोड़ता है कि वे एक करीबी अंतर से हार गए थे और संभवतः 44 सीटें (8 + 19 + 9 + 8 = 44) जीत सकते थे, जोकि बहुमत के निशान से आगे था. चुनाव परिणामों के इस झूठे विश्लेषण के साथ सोशल मीडिया पर चर्चा हुई.

दावा यह किया गया कि भाजपा ने दिल्ली में 2,000 से कम मतों के अंतर के साथ 36 सीटें हार गई.

जब इस खबर को भारत निर्वाचन आयोग के आंकड़ों में देखा गया तो पता चला कि यह कुछ लोगों कि ओर से फेक न्यूज चलाया गया है. उनकी वेबसाइट पर प्रकाशित आंकड़ों के अनुसार, 100 वोट मार्जिन सीमा से नीचे भाजपा एक भी सीट नहीं हारी हैं. वहीं 1000 सीट मार्जिन सीमा, 2 सीटें (लक्ष्मी नगर, बिजवासन) और 2000 वोट मार्जिन सीमा से नीचे सिर्फ 1 सीट वह आदर्श नगर की सीट हारी है.

फलस्वरूप यह स्पष्ट है कि केवल 3 सीटों में 2000 से कम अंतर था. बिजवासन में, आप के भूपिंदर सिंह जून ने 57,271 वोट हासिल करके भाजपा के सत प्रकाश राणा को हराया, जिन्होंने 753 वोटों के अंतर से 56,518 वोट हासिल किए थे. यह इस चुनाव का सबसे छोटा अंतर है. लक्ष्मी नगर में, बीजेपी के अभय वर्मा ने आप के नितिन त्यागी को 64,785 वोटों से हराकर 65,735 वोट हासिल किए. वोट का अंतर 880 वोट था. दावे में यह कहा गया था कि भाजपा और आप के बीच 36 सीटों पर काटें की टक्कर रही, लेकिन सच्चाई तो यह है कि सिर्फ दो सीटें पर काटे की टक्कर देखने को मिले (लक्ष्मी नगर, बिजवास).