बिहार पंचायत चुनाव : मतदाताओं द्वारा भेजे जा रहे फर्जी शिकायत पत्रों की आई बाढ़, चुनाव आयोग की बढ़ी परेशानी

बिहार पंचायत चुनाव : मतदाताओं द्वारा भेजे जा रहे फर्जी शिकायत पत्रों की आई बाढ़, चुनाव आयोग की बढ़ी परेशानी
For representational purpose only Source :- Internet

पटना. राज्य चुनाव आयोग इन दिनों आगामी पंचायत चुनाव की तैयारियों में व्यस्त है. इसी बीच मतदाताओं द्वारा फर्जी शिकायत पत्रों ने चुनाव की परेशानी बढ़ा दी है. शिकायत पत्र में फर्जी नाम और पता दिया गया है इस प्रकार की शिकायतें निबंधित डाक से भेजी जा रही हैं. आयोग द्वारा इन शिकायतों की जांच करायी जा रही है.

गलत नाम और पते की वजह से वापस आ रहे है पत्र

जांच में जिलों से लेकर प्रखंड स्तर तक के पदाधिकारी व कर्मी छानबीन में अपना समय लगाकर रिपोर्ट तैयार कर आयोग को उपलब्ध करा रहे हैं. आयोग द्वारा जब शिकायतकर्ता को तैयार जवाब भेजा जा रहा है, तो फर्जी नाम व पता होने से रजिस्टर्ड पोस्ट वापस लौट रहा है.

राज्य निर्वाचन आयोग के सचिव योगेंद्र राम ने बताया कि आयोग किसी भी मतदाता को शिकायत करने पर रोक नहीं लगा सकता. कोई भी मतदाता अपनी शिकायत कर सकता है, जिसकी आयोग द्वारा जांच करायी जाती है. इसके बाद संबंधित मतदाता को उसका जवाब उपलब्ध करा दिया जाता है.

चुनाव आयोग की अपील

उन्होंने बताया कि जो शिकायत रिजस्टर्ड डाक से आ रही है, उसमें कुछ चुनिंदा आवेदन पत्र फर्जी पाये जा रहे हैं.आयोग द्वारा ऐसे दर्जनों पत्रों का जवाब भेजा गया है जो वापस लौटकर आ रहे हैं. उन्होंने बताया कि मतदाता अपनी वास्तविक शिकायत ही दर्ज करायें.