बिहार पंचायत चुनाव : प्रत्याशियों को मिलेगी ऑनलाइन नामांकन पत्र भरने की आजादी, चुनाव आयोग की तैयारी जारी

बिहार पंचायत चुनाव : चुनाव से पहले जन प्रतिनिधियों को मिलेगा मार्च 2020 से रुका हुआ मासिक मानदेय
For Representational Purpose Only Source - Internet

पटना. आगामी पंचायत चुनाव में विधानसभा चुनाव की तर्ज पर प्रत्याशियों को ऑनलाइन नामांकन पत्र भरने की आजादी मिलेगी. हालांकि बाद में पत्र का प्रिंट निकलवाकर ऑफलाइन जमा कराने की अनिवार्यता भी रहेगी. राज्य चुनाव आयोग द्वारा इसको लेकर तैयारी जारी है.

चुनाव में सभी पदों के लिए ऑन लाइन नामांकन के लिए राज्य निर्वाचन आयोग द्वारा अधिसूचना जारी होने के बाद उसके पोर्टल पर नामांकन फार्म जारी किया जाएगा और तय तारीख तक ही कार्यशील रहेगी.

पंचायत चुनाव में जिला परिषद सदस्यों का चयन, मुखिया, सरपंच, पंचायत समिति के साथ वार्ड सदस्यों एवं पंचों का चयन किया जाता है. जिला परिषद के लिए एसडीएम को निर्वाची पदाधिकारी बनाया गया है तो मुखिया-सरपंच-पंचायत समिति वार्ड एवं पंच चुनाव के लिए बीडीओ को निर्वाची अधिकारी बनाया गया है.

एक बूथ पर होंगे 800 से 850 मतदाता

राज्य निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार एक बूथ पर अधिकतम 800 मतदाताओं को शामिल करना है. इसमें 25 मतदाताओं को इस आधार पर जोड़ा जा सकता है कि उसमें पूरा एक टोला या वार्ड शामिल है. अगर किसी टोले-वार्ड से एक परिवार के चार सदस्य का नाम मुख्य बूथ में है और चार सदस्यों के नाम सहायक बूथ पर चला जाए तो ऐसी स्थिति में वहां मतदाताओं की संख्या 25 से 50 तक बढ़ाने की छूट है.