अब रामस्वरूप के खिलाफ जीजा ने ठोंकी चुनावी ताल

अब रामस्वरूप के खिलाफ जीजा ने ठोंकी चुनावी ताल-Panchayat Times
साभार इंटरनेट

मंडी. प्रदेश के सबसे बड़े संसदीय क्षेत्र मंडी में जहां दादा -पोते ने पिता को सियासी धर्मसंकट में डाल रखा है. वहीं अब वर्तमान सांसद  रामस्वरूप शर्मा के जीजा ने भी चुनावी ताल ठोंक दी है. मंडी जिला की जोगिंद्रनगर तहसील के हराबाग निवासी बृज गोपाल अवस्थी जो बिजली बोर्ड से सेवानिवृत एसडीओ हैं. उन्होंने मंडी संसदीय क्षेत्र से आजाद उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ने का ऐलान किया है.

यहां पत्रकारों से बात करते हुए बृज गोपाल अवस्थी ने कहा कि वे मंडी संसदीय क्षेत्र के 17 विधानसभा क्षेत्र में भरमौर को छोड़ कर 16 विस क्षेत्रों में नौकरी कर चुके हैं. उनका अधिकांश सेवाकाल जनजातीय क्षेत्र लाहुल-स्पीति और किनौर का रहा है. जिसके चलते लोगों के आग्रह पर वे चुनावी समर में कूदने जा रहे हैं. उन्हें लोगों का भारी समर्थन मिल रहा है.
बृज गोपाल अवस्थी जो रिश्ते में सांसद रामस्वरूप शर्मा के रिश्ते में जीजा हैं. सांसद ने 2014 के घोषणा पत्र में किए गए वादों में से कोई भी पूरा नहीं किया है.

उन्होंने कहा कि रामस्वरूप शर्मा ने द्रंग में नमक का कारखाना लगाने, पठानकोट- जोगिंद्रनगर रेल को मंडी पहुंचाने और भानुपली -बिलासपुर रेल को लेह पहुंचाने का वादा किया था. उसी प्रकार पठानकोट-मंडी फोरलेन का कार्य भी शुरू नहीं हो पाया है. इसके अलावा बेरोजगारी दूर करने और युवाओं को रोजगार देने में वे पुरी तरह से नाकाम रहे हैं.

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की नीतियां बहुत ही अच्छी है. मगर सांसद उन नीतियों को लोगों तक पहुंचाने में नाकाम हुए. उन्होंने कहा कि वे मंडी संसदीय क्षेत्र में लगातार भ्रमण कर रहे हैं.  उन्होंने पाया कि मंडी संसदीय क्षेत्र की जनता सांसद से नाराज है और बदलाव के अलावा विकल्प भी ढूंढ रही है. ऐसे में वे जनता के बीच विकल्प के रूप में जाएंगे। बृज गोपाल ने कहा कि जनजातीय क्षेत्रों में रेल पहुंचाने की बात की जा रही है. इसके बदल अगर वहां पर मैट्रो चलाई जाए तो अधिक सुविधाजनक रहेगी.