मंत्रिमंडल का विस्तार बजट सत्र के बीच में या सत्र के बाद होगा:सीएम

मंत्रिमंडल का विस्तार बजट सत्र के बीच में या सत्र के बाद होगा:सीएम-Panchayat Times
साभार जय राम ठाकुर फेसबुक

शिमला. मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने सोमवार को शिमला में पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत की. उन्होनें पत्रकारों से बात करते हुए कहा कि मंत्रिमंडल विस्तार को लेकर केंद्रीय नेतृत्व से चर्चा हो चुकी है, जब केंद्रीय नेतृत्व कहेगा, उसके बाद ही विस्तार होगा. उन्होंने संकेत दिए कि मंत्रिमंडल का विस्तार बजट सत्र के बीच में या सत्र के बाद हो सकता है. वह अब मंत्रिमंडल विस्तार को लंबा नहीं खींचना चाहते हैं.

जय राम ठाकुर ने कहा कि बजट सत्र से संबंधित सभी विषयों पर विधायक दल पर चर्चा करेंगे. प्रश्रों को लेकर मंत्रियों को तैयारी करने को कहा है. बजट सत्र में सौहार्द पूर्ण वातावरण में चर्चा होनी चाहिए तथा सरकार सभी विषयों पर चर्चा के लिए तैयार है. विपक्ष राजनीतिक प्रतिपूर्ति के विषय न उठाए तथा विपक्ष प्रदेश हित के विषय उठाए. विपक्ष अपनी भूमिका निभाए। सभी विषय पर सार्थक चर्चा हो.

उन्होंने कहा कि सरकार ने पारदर्शी तरीके से प्रदेश के हित में आबकारी नीति बनाई है. इसके पीछे सरकार का प्रयास है कि राज्य को अधिक राजस्व मिले. गाय सदन के लिए प्रति बोतल के शुल्क में 50 पैसे की बढ़ौतरी की गई है.अब यह शुल्क बड़कर एक रूपए 50 पैसे हो गया है.उन्होंने कांग्रेस पर आरोप लगाया कि पहले अपने करीबियों को लाभ पहुंचाने के लिए आबकारी नीति में संशोधन किए जाते थे. लेकिन इस बार ऐसा नहीं है.

उन्होंने कहा कि देश में तीन या चार राज्य ही ऐसे हैं जहां पर शराब की बोतल पर बार कोड शुरू किया गया है. हिमाचल भी इसमें एक है. बार कोर्ड से शराब की बोतल को कहीं भी ट्रेक किया जा सकता है. साथ ही इससे शराब की समगलिंग व मिलावट आदि बंद होगी. उन्होंने कहा कि यह बड़ी वचित्र स्थिति है कि कांग्रेस सरकार के समय में क्यों नहीं हुआ. यदि होता तो आज ऐसी स्थिति न होती. उन्होंने कहा कि पूर्व कांग्रेस सरकार के समय में बनी बीवरेज कॉरपोरेशन जांच के दायरे में है और उससे प्रदेश को 200 करोड़ रूपए का नुकसान हुआ है.

विपक्ष के शोर शराबे पर मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश को राजस्व का भारी नुकसान हो रहा था, क्योंकि पड़ोसी राज्य में शराब सस्ती थी तथा यहां पर महंगी थी.

मुख्यमंत्री ने अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की भारत यात्रा को ऐतिहासिक करार दिया तथा कहा कि जिस प्रकार से अमेरिका के राष्ट्रपति का भारत की भूमि पर स्वागत हुआ है, ऐसा पहला कभी हनीं हुआ. पिछले कुछ अरसे में भारत अमेरिका के करीब हुआ है, जिसमें नरेंद्र मोदी की अहम भूमिका रही है. देश के लिए सौभाज्य की बात है कि मोदी जैस मजबूत नेतृत्व मिला है. उन्होंने कहा कि जब से मोदी जैसा मजबूत नेतृत्व मिला है, तब से भारत की साख दुनिया में बड़ी है. दूनिया का भारत की तरफ देखने का नजरिया बदला है.