31 जनवरी तक मूंगफली बेच सकेंगे राजस्थान के किसान

कृषि मंत्रालय ने राजस्थान के किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए मूंगफली खरीदने...
मूंगफली की खेती

नई दिल्ली. केन्द्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह ने कहा है कि कृषि मंत्रालय ने राजस्थान के किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए मूंगफली खरीदने की अवधि 31 जनवरी तक बढ़ा दी है. मंत्री ने शुक्रवार को ट्वीट कर कहा कि राजस्थान सरकार के अनुरोध पर यह निर्णय लिया गया है. ऐसे में अब राजस्थान के किसान मूंगफली को 31 जनवरी तक केन्द्रों पर लाकर बेच सकते हैं.

भारत सरकार के कृषि, सहकारिता एवं किसान कल्याण विभाग द्वारा राज्य में चल रही समर्थन मूल्य पर मूंगफली की खरीद को 15 दिन के लिए बढ़ाया है. केन्द्र सरकार द्वारा राज्य के किसानों के हित में किए गए इस फैसले से अब पंजीकृत किसानों से मूंगफली की खरीद की जा सकेगी.

सहकारिता एवं गोपालन मंत्री अजय सिंह किलक ने गुरुवार को एक विज्ञप्ति जारी कर कहा कि मूंग एवं उड़द के लिए समयावधि को पूर्व में ही 26 जनवरी,2019 तक बढ़ा दिया गया था लेकिन मूंगफली की समर्थन मूल्य पर खरीद के लिए निर्धारित 90 दिन की समयावधि को नहीं बढ़ाया था. जिससे लगभग दो हजार पंजीकृत किसानों से मूंगफली की खरीद नहीं हो पाई थी लेकिन केन्द्र सरकार द्वारा राज्य के किसानों के हित में किए गए इस फैसले से अब पंजीकृत किसानों से मूंगफली की खरीद की जा सकेगी.

 कृषि मंत्रालय ने राजस्थान के किसानों के हितों को ध्यान में रखते हुए मूंगफली खरीदने...
केन्द्रीय कृषि मंत्री राधामोहन सिंह

ये भी पढ़ें- गाय गोद लेने के लिए प्रदेशभर में चलेगा अभियान

सहकारिता विभाग के प्रमुख शासन सचिव एवं रजिस्ट्रार अभय कुमार ने बताया कि राज्य में कुल तीन लाख 38 हजार 664 किसानों द्वारा मूंग, उड़द, सोयाबीन एवं मूंगफली का समर्थन मूल्य पर बेचान के लिए ऑनलाइन पंजीकरण कराया था. उन्होंने कहा कि पंजीकृत किसानों में से तीन लाख दो हजार 705 को तुलाई हेतु दिनांक का आवंटन कर दिया गया है. साथ ही दो लाख 51 हजार 518 किसानों से उनकी उपज की तुलाई करवाई जा चुकी है.

कुमार ने बताया कि अब तक दो हजार 437 करोड़ रुपये से अधिक की खरीद की गई है, जिसमें से एक लाख 56 हजार 345 किसानों को एक हजार 478 करोड़ रुपये को उनके खातों में सीधे ही जमा कर दिया गया है.