चंडीगढ़-शिमला फोरलेन का सफर खर्चीला मगर सुहाना

फोरलेन बनने के बाद चंडीगढ़ से शिमला तक दो गुणा टोल टैक्स देना पड़ेगा.
साभार - Wikipedia

सोलन. फोरलेन बनने के बाद चंडीगढ़ से शिमला तक दो गुणा टोल टैक्स देना पड़ेगा. शिमला आने-जाने के लिए वाहन चालकों को तीन टोल प्लाजा से होकर गुजरना पड़ेगा और प्रत्येक टोल प्लाजा पर पर्ची कटवानी होगी. गैर हिमाचली वाहनों को ग्रीन टैक्स भी देना पड़ेगा. जानकारी के अनुसार वर्तमान में चंडीगढ़ से शिमला जाने के लिए मात्र एक बार टोल टैक्स देना पड़ता है.

चंडी मंदिर के समीप स्थित टोल प्लाजा में कार चालकों से एक तरफ के 38 रुपए और दोनों तरफ के 45 रुपए लिए जाते हैं. इसी प्रकार एलसीवी वाहन के एक तरफ के 50 रुपए और दोनों तरफ के 75 रुपए वसूले जाते हैं. ट्रक से एक तरफ के 100 रुपए और दोनों तरफ के 150 रुपए लिए जा रहे हैं, जबकि मल्टी एक्सल वाहन के एक तरफ के 160 रुपए और दोनों तरफ के 245 रुपए लिए जा रहे हैं.

ये भी पढ़ें- मंडी: बेहद गरीब परिवारों को अनदेखा कर ‘टिहरा’ बीपीएल मुक्त पंचायत घोषित

कालका-शिमला फोरलेन पर राष्ट्रीय उच्च मार्ग प्राधिकरण बोर्ड की तरफ से दो टोल प्लाजा स्थापित किए जा रहे हैं. पहला टोल प्लाजा सनवारा के पास होगा वहीं दूसरा टोल प्लाजा कंडाघाट और कैथलीघाट के बीच बनाया जा रहा है. चंडी मंदिर सहित चंडीगढ़ से शिमला तक तीन टोल प्लाजा से होकर वाहनों को गुजरना पड़ेगा. ऐसे में जाहिर सी बात है कि फोर लेन का सफर सुहाना होने के साथ-साथ महंगा भी हो जाएगा.

राष्ट्रीय उच्च मार्ग प्राधिकरण बोर्ड

वाहनों चालकों को लगभग दो गुणा टोल प्जाजा देकर शिमला पहुंचना होगा. हालांकि अभी सनवारा और कैथलीघाट के पास बनने वाले टोल प्लाजा के रेट तय नहीं किए गए हैं लेकिन बताया जा रहा है कि राष्ट्रीय उच्च मार्ग प्राधिकरण बोर्ड की तरफ से तय किए गए बेस रेट के मुताबिक ही टोल प्लाजा पर वाहनों के रेट तय होंगे. खास बात यह है कि प्रत्येक टोल प्लाजा पर वाहन चालक को पर्ची कटवानी होगी.

क्या हैं संभावित रेट्स

चंडी मंदिर, सनवारा और कैथलीघाट टोल प्लाजा का रेट भी अलग-अलग होगा फोरलेन बनने के बाद जारी की गई बेस रेट की अधिसूचना के मुताबिक चंडीगढ़ से शिमला के लिए कार चालक को एक तरफ के 73 रुपए देने होंगे, जबकि दोनों तरफ के 90 रुपए देने होंगे. इसी प्रकार एलसीवी वाहन चालक को एक तरफ के 113 रुपए और दोनों तरफ के 150 रूपए देने पडेंगे, जबकि ट्रक और बस चालक को एक तरफ के 226 रुपए और एक तरफ के 300 रुपए देने पड़ सकते हैं. इसके आलावा मल्टी एक्सल वाहन को एक तरफ के 362 रुपए और दोनों तरफ के 490 रुपए देने पड़ सकते हैं.

15 किलोमीटर कम हो जाएगा

ऐसे में जाहिर सी बात है कि बाहरी राज्यों से शिमला तक पहुंचने वाली सभी प्रकार की खाद्य वस्तुएं भी महंगी होंगे. फोरलेन का फायदा होने के साथ-साथ प्रदेशवासियों को इसकी कीमत भी चुकानी होगी. राष्ट्रीय उच्च मार्ग प्राधिकरण बोर्ड के परियोजना निदेशक एसएम. स्वामी का कहना है कि कालका-शिमला फोर लेन पर दो टोल प्लाजा स्थापित किए जा रहे हैं तथा प्रत्येक टोल प्लाजा की अलग-अलग पर्चियां कटेंगी. फोरलेन बनने से चंडीगढ़ से शिमला तक का सफर करीब 15 किलोमीटर कम हो जाएगा. बड़ोग, कंडाघाट और कथैलीघाट में सुरंग का निर्माण किया जा रहा है. वर्तमान में चंडीगढ़ से शिमला 113 किलोमीटर है, फोर लेन बनने के बाद करीब 98 किलोमीटर का सफर रह जाएगा.