सोलर बिजली की खरीद की दर में होगा बदलाव, 22 मार्च को सुनवाई

रांची. झारखंड राज्य विद्युत नियामक आयोग अब नए सिरे से सोलर बिजली खरीद दर को तय करेगा. जेरेडा ने कहा है कि राज्य सरकार इन कंपनियों से 4.95 रुपये प्रति यूनिट की दर से बिजली खरीदेगी और इस दर पर आयोग से सहमति मांगी गयी है. हालांकि इसको लेकर भाजपा के राज्यसभा सांसद महेश पोद्दार कई बार आपत्ति जता चुके हैं.

जेरेडा ने छह कंपनियों के साथ 675 मेगावाट सौर ऊर्जा के लिए किये गये करार पर अब नियामक आयोग से सहमति देने का अाग्रह करते हुए एक पिटीशन आयोग को भेज दिया है.  झारखंड स्मॉल इंडस्ट्रीज एसोसिएशन(जेसिया) की ओर से इस दर पर कड़ा एतराज जताया है और एसोसिएशन ने दर पर सहमति न देने का अाग्रह आयोग से किया गया है.

राज्यों में इसकी दर 2.50 रुपये प्रति यूनिट के आसपास है. आयोग इस पूरे मामले की सुनवाई 22 मार्च को करेगा.
391.5 मेगावाट के रिन्यू सोलर पावर सहित इन कंपनियों से किया गया है करार;
सुजलान एनर्जी लिमिटेड 131.25 मेगावाट
ओपीजी पावर जनेरेशन प्राइवेट लिमिटेड 93 मेगावाट
अडाणी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड 37.5 मेगावाट
माधव इंफ्राप्रोजेक्ट्स लिमिटेड 15 मेगावाट
जनवरी 2016 में 1200 मेगावाट की सोलर परियोजना लगाने के लिए निविदा आमंत्रित किया गया था. मालूम हो कि अन्य राज्यों में ढ़ाई रुपए प्रति यूनिट के आसपास सोलर पावर खरीद की राशि तय की गई है.