मुख्यमंत्री का वादा, चौपाल को बनाएंगे शानदार पर्यटन स्थल

चौपाल क्षेत्र को पर्यटन की दृष्टि विकसित किया जाएगा - Panchayat Times

चौपाल (शिमला). मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने कहा कि शिमला जिला के चौपाल क्षेत्र को पर्यटन की दृष्टि से विकसित किया जाएगा. उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार से इस क्षेत्र के लिए पर्यटन परियोजनाएं प्राप्त करने के प्रयास किए जाएंगे. मुख्यमंत्री शिमला जिला के चौपाल में एक जनसभा को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि चौपाल विधासभा क्षेत्र के विकास को अतिरिक्त प्राथमिकता दी जाएगी.

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश के विकास और कल्याण के लिए वचनबद्ध है. उन्होंने कहा कि छह महीनों के कार्यकाल के दौरान उन्होंने 49 विधानसभा क्षेत्रों का दौरा किया है. उन्होंने कहा कि वह स्वयं किसान परिवार से संबंध रखते हैं और आम जन-मानस की विकास आवश्यकताओं से भलीभांति परिचित हैं.

डिग्री कॉलेज चौपाल के लिए 1.25 करोड़ रुपए

जय राम ठाकुर ने कहा कि केन्द्र सरकार ने राज्य को पर्यटन विकास के लिए 1900 करोड़ रुपए स्वीकृत किए हैं और पहली बार प्रदेश सरकार ने पर्यटन क्षेत्र के विकास के लिए 50 करोड़ रुपए का प्रावधान किया है. मुख्यमंत्री ने डिग्री कॉलेज चौपाल के लिए 1.25 करोड़ रुपए की घोषणा की. आईटीआई चौपाल में तीन नए पाठ्यक्रम शुरू करने और नागरिक अस्पताल चौपाल के बिस्तरों की क्षमता 50 से 100 करने की घोषणा की. उन्होंने चौपाल में मुख्यमंत्री आदर्श विद्यालय खोलने की भी घोषणा की. जय राम ठाकुर ने क्रमशः 62.30, 48 लाख, 146 लाख और 103 लाख रुपए की लागत से निर्मित चौपाल में एसडीपीओ भवन प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्र सराहां स्तर-1 के भवन, क्यारटु नाला से कफोरना बाम्टा सड़क और वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला चौपाल के विज्ञान भवन के लोकार्पण किए.

ये भी पढ़ें- कंधों के सहारे प्रसूता को लाओ, पर डॉक्टर नहीं मिलेगा, ये है हिमाचल का ‘बंजार’

मुख्यमंत्री ने सीआरएफ के तहत 10 करोड़ रुपए की लागत से सैंज-चौपाल, नेरवा-फेडज़ सड़क को चौड़ा करने और सुदृढ़ करने की आधारशिला रखी. उन्होंने 529 लाख रुपए की लागत से चौपाल में बनने वाले आजीविका केन्द्र और उत्पादन केन्द्र, 6.45 करोड़ रुपए की लागत से रीउणी से खांगना सड़क की मेटलिंग और टारिंग, 3.49 करोड़ रुपए की लागत से मड़ोग से दशोली सड़क की मेटलिंग और टारिंग की आधारशिलाएं रखीं. उन्होंने मड़ोग-मातल सड़क पर 195.30 लाख रुपए की लागत से लोहाणा खड्ड पर निर्मित होने वाले 19 मीटर लम्बे आरसीसी टी-बीम पुल, 70 लाख रुपए की लागत से केलवी से लोहाणा सड़क की मेटलिंग और टारिंग, 408.38 लाख रुपए की लागत से निर्मित होने वाले राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला सराहां की विज्ञान प्रयोगशाला तथा 120.19 लाख रुपए की लागत से निर्मित होने वाली वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला धबास के भवन की भी आधारशिलाएं रखीं.

मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए भेंट

मुख्यमंत्री का इस दौरान स्थानीय लोगों, विभिन्न सामाजिक, राजनीतिक, सांस्कृतिक संगठनों तथा गैर सरकारी संगठनों ने गर्मजोशी से स्वागत किया तथा उन्हें सम्मानित किया. वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला चौपाल के प्रधानाचार्य, अध्यापकों और विद्यार्थियों ने मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए मुख्यमंत्री को 31 हजार रुपए, भजपा प्रदेश पतवक्ता शशिदत शर्मा ने 21 हज़ार और चौपाल के विधायक बलवीर वर्मा ने एक लाख रुपये का चेक मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए भेंट किया.

सांसद वीरेन्द्र कश्यप ने योजनाओं की जानकारी दी

सांसद वीरेन्द्र कश्यप ने इस अवसर पर केन्द्र सरकार द्वारा आरम्भ की गई विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी. चौपाल के विधायक बलवीर वर्मा ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया तथा क्षेत्र में चल विभिन्न विकासात्मक योजना की जानकारी दी. उन्होंने मुख्यमंत्री से क्षेत्र में चल रहे विकास कार्यों के लिए वित्तीय सहायता उपलब्ध करवाने का भी आग्रह किया.

शिक्षा मंत्री सरेश भारद्वाज, विधायक नरेन्द्र बरागटा, हि.प्र. राज्य सहकारी बैक के अध्यक्ष खुशी राम बालनाहटा, प्रदेश भाजपा प्रवक्ता शशिदत्त शर्मा, एपीएमसी के अध्यक्ष नरेश शर्मा, भाजपा मण्डल अध्यक्ष मंगतराम शर्मा, भाजपा कार्यकारणी समिति की सदस्या सीमा मेहता, उपायुक्त शिमला अमित कश्यप, पुसिल अधीक्षक ओमापति जम्वाल और अन्य गणमान्य व्यक्ति इस अवसर पर उपस्थित थे.