एडमिट कार्ड में गलतियों के मामले पर मुख्यमंत्री ने शिक्षा मंत्री को दिए निर्देश

एडमिट कार्ड में गलतियों के मामले पर मुख्यमंत्री ने शिक्षा मंत्री को दिए निर्देश-Panchayat Times

रांची. इंटरमीडिएट के छात्र-छात्राओं को समय पर एडमिट कार्ड न मिल पाने और एडमिट कार्ड में गलतियों के मामले पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने सख्ती दिखाई है. मुख्यमंत्री ने कहा है कि जैक (झारखंड एकेडमिक काउंसिल) और कॉलेज के कर्मचारियों की गलतियों के कारण परीक्षा देने वाले छात्र-छात्राओं को पूरा साल बर्बाद हो रहा है. उन्होंने इस मामले पर ट्विटर के जरिए शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो को निर्देश दिया है कि दोषी कर्मचारियों पर सख्त कार्रवाई की जाए, ताकि वो अपनी जिम्मेदारियों को समझ सकें.

मुख्यमंत्री ने ट्वीट में क्या लिखा…

हेमंत सोरेन ने गुरुवार को शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो को टैग करते हुए ट्विटर पर लिखा कि लगातार छात्रों की ऐसी समस्याएं मेरे संज्ञान में आ रही है जो पीड़ादायक है, कहीं कॉलेज कर्मचारियों तो कहीं झारखंड एकेडिमक काउंसिल की त्रुटि के कारण छात्रों का वर्ष बर्बाद हो रहा है जो बिल्कुल बर्दाश्त के काबिल नहीं है,इसलिए ऐसे सभी छात्रों के लिए परीक्षा की पुनः व्यवस्था करें और साथ ही प्रक्रिया को सुधारने पर जोर दें ताकि भविष्य में ऐसा ना हो, साथ ही दोषी अधिकारियों पर उचित कार्रवाई करें ताकि वो अपनी जिम्मेदारी को अच्छे से निभाएं.

क्या है मामला

सुनील मुर्मू नाम के युवक ने छात्रा के पत्र को ट्विटर पर मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को टैग करते हुए जानकारी दी. सुनील ने लिखा कि मुख्यमंत्री महोदय, गुमदी बेसरा एलबीएसएम (लाल बहादुर शास्त्री मेमोरियल) कॉलेज में 11वीं की छात्रा है जिसे 11वीं की परीक्षा प्रवेश पत्र नहीं मिला है. आपसे निवेदन है कि गुमदी बेसरा को प्रवेश पत्र दिलाने की कृपा करें.

मुख्यमंत्री को टैग किए गए पत्र में लिखा गया था कि पांच मार्च से इंटरमीडिएट का एग्जाम है और कॉलेज के कर्मचारियों की लापरवाही के चलते मेरे द्वारा भरे गए एग्जाम फॉर्म को कॉलेज ने झारखंड एकेडमिक काउंसिल में जमा ही नहीं किया गया है. जिसके चलते मेरा एडमिट कार्ड नहीं आया है. गुमदी बेसरा पूर्वी सिंहभूम के करनडीह स्थित लाल बहादुर शास्त्री मेमोरियल कॉलेज की छात्रा है.

वहीं बुधवार को मुख्यमंत्री को टैग कर ट्वीट किए गए एक वीडियो के जरिए जानकारी दी गई थी कि सिंदरी कॉलेज में आर्ट्स की छात्रा कोमल का पांच मार्च से एग्जाम है. लेकिन बुधवार तक कोमल को एडमिट कार्ड नहीं मिला था. कोमल द्वारा एडमिट कार्ड मांगे जाने पर कॉलेज के टीचर आनाकानी कर रही हैं. इस ट्वीट के बाद मुख्यमंत्री ने मामले पर शिक्षा मंत्री से त्वरित संज्ञान लेते हुए छात्रा की मदद करने का निर्देश दिया था.

माध्यमPT DESK
शेयर करें