रांची की जनता को सीएम ने दी ये सौगात

रांची. मुख्यमंत्री रघुवर दास ने शुक्रवार को रांची रिंग रोड संख्या-7 का उद्घाटन किया. इसके साथ ही रांची पेयजल आपूर्ति योजना एवं स्मार्ट सिटी आधारभूत संरचना का शिलान्यास भी किया. यहां जनता को सम्बोधित करते हुए सीएम ने कहा कि राज्य गठन के बाद भी सरकार थी, संसाधन थे, लेकिन हम विकास का इंतजार कर रहे थे. 4 साल पहले जब वर्तमान सरकार बनी तो हमने इन चुनौतियों को सुअवसर के रूप में लिया और राज्य को विकास के पथ पर अग्रसर करने का प्रयत्न किया. उस प्रयत्न का परिणाम है जिस रिंग रोड निर्माण कार्य का मैंने शिलान्यास किया था आज उसका उद्घाटन भी कर रहा हूं.

सरकार जो कहती है वह करती है

वर्तमान सरकार जनता से झूठा वादा नहीं करती है. सरकार जो कहती है वह करती है. रातू की जनता से मैंने वादा किया था कि रिंग रोड को जोड़ने वाले नेशनल हाईवे में एक ब्रिज निर्मित होगा. उसे भी आज पूरा कर रहा हूं. यहां 22 करोड़ रुपए की लागत से ब्रिज का निर्माण होगा. वर्षों से लंबित रिंग रोड फेज 7 का निर्माण कार्य 452 करोड़ की लागत से पूर्ण हुआ.  290 करोड़ की शहरी जलापूर्ति योजना (अमृत योजना) और 656 एकड़ भूमि पर 513 करोड़ की लागत से एचईसी में स्मार्ट सिटी आधारभूत संरचना निर्माण कार्य का शिलान्यास हो रहा है.

रांची की जनता को सीएम ने दी ये सौगात-Panchayat Times
साभार : ऑफिसियल फेसबुक रघुवर दास

उन्होंने कहा कि राज्य गठन के बाद झारखंड की जनसंख्या में वृद्धि दर्ज की गई. इस बढ़ती जनसंख्या को सुविधाएं प्रदान करने के लिए सड़क निर्माण, सड़कों का उन्नयन कार्य, पेयजलापूर्ति की सुनिश्चितता, बिजली उपलब्ध कराना सरकार का लक्ष्य है. इस निमित 4 वर्ष में विकास के कार्य लोगों तक पहुंचे हैं. रांची रिंग रोड फेज 1 और 2 का निर्माण कार्य अप्रैल तक धरातल पर नजर आएगा और बचे हुए 25.3 किमी को रिंग रोड से जोड़ दिया जाएगा. यह कार्य एनएचआई के जिम्मे है. यह काम पूरा होने से यातायात को बहुत लाभ होगा.

शौचालय का निर्माण कराया जा रहा

मुख्यमंत्री दास ने कहा कि झारखंड में गरीबों को पक्का मकान और उनके लिए शौचालय का निर्माण कराया जा रहा है.  आज महज 4 वर्ष के कार्यकाल में सरकार ने 99% झारखंड को खुले में शौच से मुक्त कर दिया है. करीब 5 लाख आवास का निर्माण प्रधानमंत्री आवास योजना के तहत हुए हैं. 3 लाख से ज्यादा आवास निर्माण करने की योजना पर कार्य हो रहा है. 2022 तक 5 लाख और आवास गरीबों के लिए बनाने का कार्य सरकार करेगी. राज्य के गरीब परिवारों मुफ्त गैस सिलेंडर प्रदान किये गए. इस कार्य में किसी तरह का भेदभाव नहीं बरता गया. सभी वर्ग के लोगों को इन योजनाओं का लाभ मिला है.

रांची की जनता को सीएम ने दी ये सौगात-Panchayat Times
साभार : ऑफिसियल फेसबुक रघुवर दास

मुख्यमंत्री ने कहा कि शहरों की तरह गांव को भी रोशन किया जाएगा. गांव में भी मूलभूत सुविधा उपलब्ध होगी. इसके लिए केंद्र सरकार 14वें वित्त आयोग के तहत 600 करोड़ की राशि राज्य के 4 हजार से ज्यादा मुखियागण के बैंक एकाउंट में जमा किया है. मार्च में फिर 600 करोड़ की राशि आएगी. इस तरह एक पंचायत को 26 लाख रुपए गांव के विकास के लिए मिलेगा. इस राशि से गांव में स्ट्रीट लाइट, पेवर ब्लॉक की सड़क बरसात से पूर्व बना दी जाएगी. मुख्यमंत्री ने बताया कि 500 करोड़ की लागत से आदिवासी, दलित गांव में पेयजलापूर्ति योजना को अमलीजामा पहनाया जाएगा. डीप बोरिंग के माध्यम से गरीबों को उनके घर मे शुद्ध पेयजल उपलब्ध होगा. मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड में जल्द 24 घंटे बिजली की सुविधा उपलब्ध होगी. 81 ग्रिड और 257 सब स्टेशन का कार्य हो रहा है.

अपने सोच को स्मार्ट बनाएं, झारखंड भी स्मार्ट बन रहा हैः सीपी सिंह

नगर विकास मंत्री सीपी सिंह ने कहा कि आज सड़क, पेयजलापूर्ति योजना और स्मार्ट सिटी आधारभूत संरचना का शिलान्यास हो रहा है. यह सिर्फ रांची में ही नहीं पूरे झारखंड में इस तरह का कार्य हो रहे हैं. सरकार हर तरह की मूलभूत सुविधाओं को उपलब्ध कराने का प्रयास ही रहा है. 2014 को सरकार बनते ही संकल्प लिया था कि झारखंड की जनता की सेवा करने का अवसर मिला है यह सेवा निरंतर चलेगा. सड़क स्मार्ट हो गयी है. यह कल्पना से परे है. हमें भी अब स्मार्ट होने की जरूरत है. ताकि हम कह सकें झारखंड के साथ ही यहां रहने वाले भी स्मार्ट हैं. सड़कें अच्छी बन रहीं हैं तो दो पहिया वाहन वाले हेलमेट और कार चालक सीट बेल्ट लगा कर चलें. अपनी सोंच को स्मार्ट बनाएं, झारखंड स्मार्ट बन रहा है.

इन योजनाओं का हुआ उद्घाटन

पथ निर्माण विभाग की काठीटांड़ से विकास विद्यालय तक रिंग रोड फेज 7 का उद्घाटन हुआ. इसकी कुल लागत 452 करोड़ आएगी. सोनाहातू से मिलन चौक तक सड़क निर्माण उन्नयन कार्य का लोकार्पण 40.2 करोड़ की लागत से हुआ.

इन योजनाओं का हुआ शिलान्यास

अमृत योजना के तहत 290 करोड़ की लागत से रांची शहरी जलापूर्ति योजना, 513 करोड़ की लागत से 656 एकड़ में स्मार्ट सिटी आधामभूत योजना, 252 करोड़ की लागत से 220/33 के वी गैस इंसुलेटेड सब स्टेशन निर्माण कार्य का शिलान्यास हुआ. रांची शहरी जलापूर्ति योजना के तहत 14 जलमीनार का निर्माण होगा, 898 किमी पाइपलाइन बिछाई जाएगी, 1 लाख 6 हजार 935 घरों में पेयजलापूर्ति निःशुल्क प्राप्त होगा.