“उज्ज्वला योजना” को लेकर आयोजित बैठक में शामिल हुए मुख्यमंत्री

साभार : ऑफिसियल फेसबुक रघुवर दास

रांची. मुख्यमंत्री रघुवर दास ने मुख्यमंत्री आवास पर सभी जिला 20 सूत्री उपाध्यक्ष के साथ उज्ज्वला योजना के प्रगति कार्यों की समीक्षा बैठक की. यहां पर उन्होंने कहा कि उज्ज्वला योजना के तहत राज्य के करीब 33 लाख महिलाओं को योजना से जोड़ उन्हें धुंए की घुटन से मुक्ति प्रदान कर चुके हैं. अब शेष बचे या छूटे हुए परिवार को सितंबर तक योजना से जोड़ना है. हमें उज्ज्वला योजना के तहत गैस चूल्हा, पहली और दूसरी सिलिंडर की रिफिल निःशुल्क प्रदान करना है.

आप सभी पूर्व की तरह युद्ध स्तर पर कार्य करें. गांव, पंचायत, प्रखंड और जिला स्तर पर समन्वय बनाकर कार्य करेंगे तो हमें इस पुनीत कार्य में अवश्य सफलता मिलेगी.

उज्ज्वला दीदियों की मदद लें, महिलाओं को सुरक्षा मानकों से अवगत कराएं

मुख्यमंत्री ने कहा कि पंचायत स्तर पर नियुक्त उज्ज्वला दीदियों का सहयोग इस कार्य में लें. दीदियों को पूर्व में ही छुटे हुए परिवार को जोड़ने का अनुरोध किया गया है. उन्हें गांव के लाभान्वित महिलाओं को एलपीजी के सुरक्षात्मक उपयोग की जानकारी भी देनी है, इसके लिए उन्हें प्रशिक्षित भी किया जा रहा है. जिला उपाध्यक्ष गांव, पंचायत और प्रखंड स्तर तक अब तक हुए कार्यों की समीक्षा प्रतिदिन करें. तभी सरकार 30 सितंबर तक उज्ज्वला योजना से सभी जरूरतमंदों को जोड़ने के लक्ष्य को प्राप्त करेगी.

झारखंड देश का पहला ऐसा राज्य

मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखण्ड देश का इकलौता राज्य है, जहां पहला और दूसरे सिलेंडर का रिफिल और चूल्हा भी मुफ्त दिया जाता है. सभी समुदाय, जाति, धर्म की हर गरीब बहन के घर तक गैस कनेक्शन पहुंचना सरकार की प्राथमिकताओं में है.