सीएम ने किया प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना का शुभांरभ

शिमला. मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने मंगलवार को प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना का शुभांरभ किया. जिसके तहत असंगठित क्षेत्र से जुड़े श्रमिकों को 3 हजार रुपए की मासिक पेंशन सुनिश्चित होगी. मुख्यमंत्री ने योजना के बारे में बताया कि यह योजना असंगठित क्षेत्र के उन श्रमिकों को लाभान्वित करेगी. जिनके पास आधार कार्ड और जनधन/अन्य बैंक खाते हैं और जिनकी आय 15 हजार रुपए से कम है.

उन्होंने कहा कि इस योजना के अंतर्गत 18 से 40 वर्ष तक के श्रमिक लाभान्वित होंगे.  यह योजना स्वैच्छिक और अंशदान पर आधारित योजना है. जिसके तहत 60 वर्ष की आयु के बाद लाभार्थी को कम से कम 3 हजार रुपए की मासिक पेंशन दी जाएगी. योजना के अंतर्गत श्रमिक कि ओर से अंशदान की अधिकतम सीमा 50 प्रतिशत तक हो सकती है, 50 प्रतिशत केन्द्र सरकार कि ओर से दिया जाएगा. असंगठित क्षेत्र में कार्य कर रहे जरूरमंद लोगों के लिए पेंशन योजना आरंभ करने से प्रधानमंत्री की सभी जरूरमंद देशवासियों के कल्याण के प्रति प्रतिबद्धता को दर्शाता है.

सीएम ने किया प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन योजना का शुभांरभ-Panchayat Times
साभार : ऑफिसियल फेसबुक जय राम ठाकुर

जय राम ठाकुर ने कहा कि श्रम योगी मानधन योजना श्रमिकों एवं उनके परिवारों को आर्थिक सहायता देने में मील-पत्थर साबित होगी. इस योजना के अंतर्गत असंगठित क्षेत्र के लाखों श्रमिक लाभान्वित होंगे. उन्होंने अधिकारियों को निर्देश दिए कि इस योजना के अंतर्गत अधिक से अधिक श्रमिकों को पंजीकृत करना सुनिश्चित करें, जिससे लाभार्थियों तक इसका लाभ पहुंच सकें. पर्यटन की दृष्टि से विकसित करने के प्रयास किए जा रहे हैं.

मंडी में शिव धाम एवं कृत्रिम झील के निर्माण के लिए भी प्रयास किए जा रहे हैं. उद्योग मंत्री बिक्रम सिंह ने इसर कहा कि इस योजना के अंतर्गत असंगठित क्षेत्र के रिक्शा चालक, मिस्त्री, बीड़ी मजदूर, ईंट भट्ठा/चमड़ा उद्योग/हस्तशिल्प और हथकरघा में कार्य करने वाले श्रमिक लाभान्वित होंगे.