हरियाणा में 211 नई परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास

22 जिलों में एक साथ 4106 करोड़ की 211 परियोजनाओं का उद्घाटन
प्रतीक चित्र

चंडीगढ़. मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने रविवार को सीएम आवास से 22 जिलों में एक साथ 4106 करोड़ की 211 परियोजनाओं का उद्घाटन एवं शिलान्यास किया. उन्होंने कहा कि सरकार ने साढ़े चार साल में अभूतपूर्व विकास कार्य किए हैं.

मुख्यमंत्री रविवार को सीएम आवास से 22 जिलों में एक साथ 4106 करोड़ की 211 परियोजनाओं का शुभारंभ करने के बाद कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि श्रमजीवी लोगों के लिए भी योजनाएं बनाई गई हैं. 15 हजार रुपये तक की आय वाले लोगों के लिए केन्द्र सरकार की महत्वाकांक्षी योजना शुरू की जा रही है. पूर्व की सरकारों ने एक क्षेत्र के विकास को ज्यादा तवज्जो दी, लेकिन भाजपा सरकार ने सबका साथ-सबका विकास और हरियाणा एक-हरियाणवीं एक के नारे पर आगे बढ़ते हुए प्रदेश का विकास किया है.

ये भी पढ़ें- हरियाणा की पहली इको फ्रेंडली जेल का मनोहर लाल रविवार को करेंगे उद्घाटन

उन्होंने सबसे पहले प्रमुख परियोजनाओं में सिंचाई विभाग की 633 करोड़ रुपये की मेवात फीडर कैनाल परियोजना का शुभारंभ किया. इसी प्रकार 100 करोड़ रुपये से अधिक की जिन परियोजनाओं की आधारशिला रखी, उनमें पानीपत जिले के डाहर में सहकारी चीनी मिल के आधुनिकीकरण की 300 करोड़ रुपये की परियोजना, लोक निर्माण (भवन एवं सड़कें) विभाग की 175 करोड़ रुपये की करनाल चिड़ाउ मोड़ से कैथल तक फोर लेन बनाने की परियोजना, शहरी स्थानीय विभाग की फरीदाबाद जिले की 159.40 करोड़ रुपये की एकीकृत सिटी संचालन प्लेटफार्म परियोजना, नागरिक उड्डयन विभाग की 156 करोड़ रुपये की हिसार में एविएशन हब फेज-2 की परियोजना, उच्चत्तर शिक्षा विभाग की 150 करोड़ रुपये की कैथल के मुंदड़ी में संस्कृत विश्वविद्यालय की स्थापना और शहीद हसन खां मेवाती राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय परिसर, नल्हड़ (नूंह) में 150 करोड़ रुपये की राशि से दंत महाविद्यालय की स्थापना तथा जनस्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग की 114.70 करोड़ रुपये की महेन्द्रगढ़ जिले के भालखी में पेयजल संवर्धन की परियोजना शामिल थी.

इसके अलावा मुख्यमंत्री ने उनमें पंचकूला जिले की 14.20 करोड़ रुपये की दो, पानीपत जिले की 20.95 करोड़ रुपये की पांच, सिरसा जिले की 5.02 करोड़ रुपये की दो, अम्बाला जिले की 8.24 करोड़ रुपये की एक, करनाल जिले की 18.64 करोड़ रुपये की पांच, यमुनानगर जिले की 20.79 करोड़ रुपये की तीन, सोनीपत जिले की 7.38 करोड़ रुपये की दो, रोहतक जिले की 2.45 करोड़ रुपये की एक, फरीदाबाद जिले की 26.56 करोड़ रुपये की दो, फतेहाबाद जिले की 47.48 करोड़ रुपये की 10, हिसार जिले की 26.35 करोड़ रुपये की चार, कैथल जिले की 29.04 करोड़ रुपये की चार, भिवानी जिले की 38.33 करोड़ रुपये की तीन, नूंह जिले की 633 करोड़ रुपये की एक, पलवल जिले की 23.12 करोड़ रुपये की चार, गुरुग्राम जिले की 53.02 करोड़ रुपये की सात, महेंद्रगढ़ जिले की 11.88 करोड़ रुपये की एक, झज्जर जिले की 6.89 करोड़ रुपये की तीन, चरखी दादरी जिले की 17.45 करोड़ रुपये की तीन योजनाओं का उद्घाटन किया.

22 जिलों में एक साथ 4106 करोड़ की 211 परियोजनाओं का उद्घाटन

मुख्यमंत्री ने अम्बाला जिले की 125.3 करोड़ रुपये की तीन, भिवानी जिले की 65.06 करोड़ रुपये की पांच, चरखी दादरी जिले की 21.58 करोड़ रुपये की तीन, फरीदाबाद जिले की 373.95 करोड़ रुपये की 11, फतेहाबाद जिले की 24.63 करोड़ रुपये की नौ, गुरुग्राम जिले की 343.87 करोड़ रुपये की 14, हिसार जिले की 256.70 करोड़ रुपये की सात, झज्जर जिले की 194.70 करोड़ रुपये की 10, जींद जिले की 30.97 करोड़ रुपये की 14, कैथल जिले की 217.82 करोड़ रुपये की आठ, करनाल जिले की जिले की 288.54 करोड़ रुपये की 10, कुरुक्षेत्र जिले की 122 करोड़ रुपये की आठ, महेंद्रगढ़ जिले की 149.70 करोड़ रुपये की दो, नूंह जिले की 186.56 करोड़ रुपये की छह, पलवल जिले की 47.87 करोड़ रुपये की चार, पंचकूला जिले की 50.06 करोड़ रुपये की तीन, पानीपत जिले की 404.11 करोड़ रुपये की चार, रेवाड़ी जिले की 159 करोड़ रुपये की दो, रोहतक जिले की 36.90 करोड़ रुपये की पांच, सिरसा जिले की 29.86 करोड़ रुपये की तीन, सोनीपत जिले की 35.43 करोड़ रुपये की पांच और यमुनानगर जिले की 101.09 करोड़ रुपये की 10 परियोजनाओं का शिलान्यास किया.