महागठबंधन में सीएम का चेहरा हेमंत सोरेन

महागठबंधन में सीएम का चेहरा हेमंत सोरेन-Panchayat Times

रांची. झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए विपक्षी महागठबंधन का ऐलान हो गया है. राज्य की मुख्य विपक्षी पार्टी झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) 43 और कांग्रेस 31 सीटों पर चुनाव लड़ेगी. महागठबंधन के तहत राष्ट्रीय जनता दल (राजद) को सात सीटें दी गई हैं.

शुक्रवार को रांची प्रेस क्लब में आयोजित प्रेस वार्ता में झारखंड कांग्रेस के प्रभारी आरपीएन सिंह ने यह जानकारी दी. उन्होंने बताया कि गठबंधन के तहत पहले चरण की 13 सीटों में से 6 पर कांग्रेस और 4 पर झामुमो और 3 पर राजद लड़ेगा. इसमें विश्रामपुर, भवनाथपुर, मनिका, लोहरदगा, पांकी और डालटनगंज विधानसभा सीट कांग्रेस के खाते में गई है. गुमला, बिशुनपुर, गढ़वा और लातेहार विधानसभा क्षेत्र से झामुमो चुनाव लड़ेगा. इसके अलावा चतरा, हुसैनाबाद और छतरपुर विधानसभा सीट पर राजद अपना उम्मीदवार देगा. प्रेस कॉन्फ्रेंस में कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष डॉ. रामेश्वर उरांव, आलमगीर आलम, मोइनुल हक और विनोद पांडेय उपस्थित थे.

किसी सीट पर दोस्तान संघर्ष हुआ तो कार्रवाईः आरपीएन सिंह

झारखंड कांग्रेस के प्रभारी आरपीएन सिंह ने कहा कि झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन गठबंधन में मुख्यमंत्री पद के दावेदार होंगे. फुलप्रूफ समझौता हो गया है. किसी भी विधानसभा सीट पर दोस्ताना संघर्ष नहीं होगा. जो ऐसा करेगा, उस पर पार्टी कार्रवाई करेगी. वामदलों के गठबंधन में शामिल नहीं होने पर उन्होंने कहा कि राजनीति में बहुत सारी चीजें समय पर होती हैं. हो सकता है कि झामुमो, राजद और कांग्रेस से आगे वामदल के लिए भी रास्ता निकले. एक कड़ी जुड़ी है, आगे भी और कड़ी इसमें जुड़ती जायेगी. आरपीएन ने कहा कि यह गठबंधन भाजपा का विकल्प है. राजद सुप्रीमो से मिलकर बात की जायेगी. अगर कोई नाराजगी होगी तो उसे दूर कर लिया जायेगा.

राजद गठबंधन का अभिन्न अंग, लालू को दी जा चुकी है सभी जानकारीः हेमंत

विपक्षी गठबंधन की सीटों की घोषणा के लिए आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में राजद नेता तेजस्वी यादव के नहीं आने पर पूछे गये सवाल पर हेमंत सोरेन ने कहा कि राजद से लगातार वार्ता हो रही है. छोटे भाई तेजस्वी रांची में हैं. लालू प्रसाद यादव सरकार के कोपभाजन का शिकार बने हुए हैं. सुनियोजित तरीके से उन्हें जेल में रखा गया है. मुख्य दल के रूप में हम उन्हें अपना अभिन्न अंग मानते हैं. गठबंधन के सारे स्वरूप की जानकारी लालू प्रसाद यादव को पहले ही दी जा चुकी है. राजद की कुछ मांगें हैं, इसपर उनके साथ बैठकर बातचीत से सुलझा लेंगे. हमलोग गठबंधन में विश्वास रखते हैं.

घोषणा के वक्त प्रेस कॉन्फ्रेंस में नहीं पहुंचे राजद के तेजस्वी यादव

विपक्षी गठबंधन की सीटों की घोषणा के लिए आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में राजद नेता तेजस्वी यादव शामिल नहीं हुए, जबकि वे आज भी रांची में मौजूद हैं. एक दिन पहले पटना से आने के बाद 7 नवंबर की रात हेमंत सोरेन के आवास पर आयोजित विपक्षी गठबंधन की झामुमो और कांग्रेस नेताओं के साथ मौजूद थे. सूत्रों की मानें तो राजद नेता तेजस्वी यादव 8 सीटों को लेकर अड़ गए हैं. जबकि राजद को गठबंधन में 7 सीटें दी गई हैं. बताया जा रहा है कि विश्रामपुर विधानसभा सीट पर मामला फंसा है. देवघर को लेकर भी मतभेद है.