भूमि अधिग्रहण विधेयक के खिलाफ आंदोलन जारी रहेगा

संयुक्त विपक्षी दलों की प्रेसवार्ता हुई. जिसमें नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन ने 5 जुलाई के बंदी

रांची. प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय में शुक्रवार को विपक्षी दलों की संयुक्त प्रेसवार्ता हुई. जिसमें नेता प्रतिपक्ष हेमंत सोरेन ने 5 जुलाई के बंदी को सफल बताते हुए कहा है कि जब तक सरकार भूमि अधिग्रहण संशोधन विधेयक को वापस नहीं लेती तब तक आंदोलन जारी रहेगा. उन्होंने कहा कि पहले चरण में जिला स्तरीय धरना और पुतला दहन का कार्यक्रम के साथ-साथ बंद का आह्वान किया गया था. अब राज भवन के पास 16 जुलाई को महाधरना देकर विपक्ष इसका विरोध करेगी.

“मुनाफा की जुमलावाणी”

झारखंड कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष डॉ. अजय कुमार ने कहा,द्ई, ”2014 में झूठ की बुनियाद पर और ‘लागत+50 प्रतिशत’ मुनाफा की जुमलावाणी कर मोदी जी ने देश के अन्नदाता किसान का समर्थन तो हासिल कर लिया पर चार सालों में फसलों पर ‘न्यूनतम समर्थन मूल्य’ की बिसात पर कभी खरे नहीं उतरे. अब हार की कगार पर खड़ी मोदी सरकार एक बार फिर राजनीतिक लॉलीपॉप के नए MSP के नए जुमले गढ़ रही है.”

ये भी पढ़ें- भूमि अधिग्रहण विधेयक में छेड़छाड़ नहीं, सरलीकरण हुआ है: रघुवर दास

विपक्ष की इस प्रेसवार्ता में मुख्य रूप से प्रदेश कांग्रेस कमिटी के अध्यक्ष डॉ. अजय कुमार, प्रतिपक्ष के नेता झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमन्त सोरेन, कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम, राजद नेता गौतम सागर राणा, वामदल से केडी सिंह, जर्नादन प्रसाद, सुशांतो मुखर्जी और झाविमो के खालिद खलिल मौजूद थे.