कांग्रेस, झामुमो और राजद एक साथ लड़ेंगे चुनाव

रांची. कांग्रेस, झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) और राष्ट्रीय जनता दल (राजद) विधानसभा का चुनाव साथ लड़ेंगे. गुरुवार को इन पार्टियों के नेताओं के बीच लंबी बैठक के बाद सहमति बन गई. प्रदेश कांग्रेस के प्रभारी आरपीएन सिंह शुक्रवार को रांची पहुंच रहे हैं. वे राजद और झामुमो के साथ मिलकर गठबंधन के ऐलान के साथ सीट शेयरिंग की भी घोषणा करेंगे. राज्य में 30 नवंबर से 20 दिसंबर के बीच 5 चरणों में मतदान होना है. नतीजे 23 दिसंबर को आएंगे.

झारखंड विकास मोर्चा (झाविमो) इस गठबंधन से अलग हो चुका है. वामदलों पर भी शुक्रवार तक अंतिम निर्णय हो जाएगा. हालांकि गठबंधन में इस विधानसभा चुनाव को लेकर माले को छोड़कर अन्य वाम दलों की वापसी मुश्किल नजर आ रही है. गुरुवार को झामुमो और कांग्रेस की बैठक के बाद प्रतिपक्ष के नेता और झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन ने कहा कि शुक्रवार को संशय खत्म हो जाएगा. इशारों में उन्होंने यह भी कहा कि कुछ नए चेहरों के साथ वे कल नजर आ सकते हैं. कांग्रेस विधायक दल के नेता आलमगीर आलम ने कहा कि गठबंधन के तहत चुनाव होगा. अगले 24 घंटे के भीतर सबकुछ स्पष्ट हो जाएगा.

शाम 4 बजे से शुरू हुआ था मुलाकातों का दौर

झामुमाे से विवाद सुलझाने के लिए आलाकमान ने प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष डॉ. रामेश्वर उरांव, विधायक दल के नेता आलमगीर आलम और प्रदेश सह प्रभारी मैनुल हक काे रांची भेजा था. ये तीनों नेता दिल्ली में स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक अधूरी छोड़ गुरुवार दोपहर रांची पहुंचे. शाम 4 बजे ये तीनों हेमंत सोरेन के कांके राेड स्थित आवास पर पहुंचे. वहां इनके बीच करीब चार घंटे तक बैठक चली. बैठक में कांग्रेस नेताओं ने हेमंत साेरेन काे कांग्रेस स्क्रीनिंग कमेटी की बैठक के बारे में जानकारी दी. इसके बाद कांग्रेस नेताओं ने फिर से विवादित सीटाें पर अपना दावा किया. दाेनाें दलाें के बीच चार सीटाें का पेंच सुलझाया गया.

कुछ चीजें तय होना बाकी हैं

चार सीटों गुमला, सिसई, गांडेय और घाटशिला पर फंसा पेच झामुमो-कांग्रेस ने कैसे सुलझाया इसका खुलासा अभी नहीं किया गया है। हालांकि ये चारों सीटें झामुमो के खाते में जाने की संभावना प्रबल बताई जा रही है. वामदलों का साथ आना अभी तय नहीं है. यदि नहीं आए तो सीट शेयरिंग में झामुमो को 44, कांग्रेस को 30 और राजद को सात सीटें मिल सकती हैं. यदि मासस व माले साथ आए तो दोनों दलों के लिए 1-1 सीट झामुमो छोड़ सकता है.

भाजपा-आजसू गठबंधन पर फैसला आज

भाजपा के शीर्ष नेतृत्व ने उम्मीदवारों के नामों की शॉट लिस्टिंग कर ली है। शुक्रवार को केंद्रीय चुनाव समिति की बैठक होगी, जिसमें इन नामों पर अंतिम रूप से चर्चा होगी। शुक्रवार देर शाम या शनिवार को भाजपा संसदीय दल की बैठक होगी। शुक्रवार को ही ऑल झारखंड स्टूडेंट्स यूनियन (आजसू) के साथ गठबंधन पर भी बैठक होने की संभावना है। शनिवार को 33 विधानसभा क्षेत्रों के प्रत्याशियों के नाम की घोषणा हो सकती है