मुख्यमंत्री आवास में कोरोना की जबरदस्त धमक, पीएसओ समेत 13 कर्मचारी मिले संक्रमित

मुख्यमंत्री आवास में कोरोना की जबरदस्त धमक, पीएसओ समेत 13 कर्मचारी मिले संक्रमित-Panchayat Times
प्रतीक चित्र

शिमला. राजधानी में मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के सरकार आवास ओकओवर में कोरोना वायरस की धमक से हड़कंप मच गया है. आवास से जुड़े 13 कर्मचारियों की कोरोना रिपोर्ट पॉजिटिव आई है. इनमें मुख्यमंत्री का पीएसओ और ड्राइवर भी शामिल हैं. अन्य 11 कर्मचारी मुख्यमंत्री की सुरक्षा में तैनात हैं. एक साथ इतने कर्मियों के कोरोना की चपेट में आने से सीएम आवास में तैनात स्टाफ की चिंता बढ़ गई है और आवास को मंगलवार को पूरी तरह सेनाटाइज किया गया. हालांकि संक्रमित निकले सभी कर्मी संस्थागत एकांतवास में थे. ऐसे में संक्रमण के फैलने की आशंका से फिलहाल इंकार किया जा रहा है.
कोरोना पॉजिटिव पाया गया ड्राइवर मुख्यमंत्री के गृह जिला मंडी के सुंदरनगर का रहने वाला है और जब सचिवालय में कोई चालक अवकाश पर होता है तो सीएम सुरक्षा में वह गाड़ी चलाता है. इन सभी संक्रमितों को कोविड मशोबरा भर्ती किया गया है.

पांच दिन पूर्व मुख्यमंत्री के सुरक्षा दस्ते का एक और चालक व सुरक्षा कर्मी भी कोरोना से संक्रमित पाए गए थे पिछली रात संक्रमित मिला चालक इन दोनों के संपर्क में आया था. हालांकि अच्छी बात यह है कि मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर इनके संपर्क में नहीं आये हैं और उनका कोरोना टेस्ट नहीं लिया जाएगा.
राजधानी में गत एक माह से कोरोना के मामलों में काफी उछाल आया है. यहां के करीब एक दर्जन वार्डों में कोरोना के मामले सामने आ चुके हैं. इसके अलावा राज्य सचिवालय, आयकर भवन, प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड इत्यादि सरकारी कार्यालयों में भी कोरोना मामले उजागर हुए हैं. गत 21 जुलाई को राज्य सचिवालय में मुख्यमंत्री के कुलसचिव के कोरोना पाॅजिटिव पाए जाने के बाद मुख्यमंत्री सहित कई वरिष्ठ अधिकारियों को एकांतवास में जाना पड़ा था.


स्वास्थ्य विभाग द्वारा शाम पांच बजे जारी बुलेटिन के मुताबिक मंगलवार को राज्य में 56 नए मामले सामने आए हैं. इन्हें मिलाकर राज्य में कोरोना संक्रमितों की संख्या 4230 पहुंच गई है. इनमें सक्रिय मरीज की संख्या 1320 है. राज्य में अब तक 2851 मरीज कोरोना से जंग जीत चुके हैं. प्रदेश में कोरोना की रिकवरी रेट 67 फीसदी से अधिक हो गई है। कोरोना से राज्य में अब तक 17 की जान गई है.