कुल्लू उपायक्त का गौसदन में श्रमदान

बेसहारा पशुओं के लिए जिला प्रशासन के प्रयासों से बजौरा के निकट स्थापित किए गए गौसदन
उपायुक्त यूनुस गाय की सेवा करते हुए

कुल्लू. बेसहारा पशुओं के लिए जिला प्रशासन के प्रयासों से बजौरा के निकट स्थापित किए गए गौसदन एवं चरागाह में शनिवार को उपायुक्त यूनुस और जिला के अन्य अधिकारियों ने स्थानीय लोगों और विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारियों के साथ श्रमदान किया.

उपायुक्त के आह्वान पर ग्राम पंचायत बजौरा के अलावा ग्राम पंचायत न्यूल, हाट, कलैहली, मशगां, बल्ह और अन्य पंचायतों के लोगों ने बढ़-चढ़ कर भाग लिया. इसमें महिला मंडल, युवक मंडल, नेहरू युवा केंद्र, महिला स्वयं सहायता समूहों, आर्ट ऑफ लिविंग, कार सेवा दल, हिमालयन रोवर्स, री-इमेजिन जिंदगी और अन्य संस्थाओं के कार्यकर्ताओं सहित सैकड़ों लोगों ने गौसदन परिसर की सफाई की तथा वहां पड़े पत्थरों को हटाया. इसके अलावा पौधारोपण भी किया गया.

बेसहारा पशुओं के लिए जिला प्रशासन के प्रयासों से बजौरा के निकट स्थापित किए गए गौसदन

20 लाख रुपए से अधिक खर्च

इस अवसर पर उपायुक्त ने कहा कि इस गौसदन परिसर पर अभी तक 20 लाख रुपए से अधिक खर्च किए जा चुके हैं. आने वाले दिनों में इस परिसर में सभी मूलभूत सुविधाएं जुटाई जाएंगी. गौसदन के संचालन में स्थानीय लोगों की भागीदारी सुनिश्चित की जा रही है. पूरे परिसर की बाड़बंदी की जाएगी, पशुओं के अतिरिक्त खुरलियां बनाई जाएंगी तथा एक बड़ा वर्मी कंपोस्ट पिट बनाया जाएगा.

ये भी पढ़ें- हिमाचल में पत्रकार के अपहरण की कोशिश

इस अवसर पर सहायक आयुक्त सन्नी शर्मा, बीडीओ चेतराम, पशुपालन विभाग के उपनिदेशक डॉ. संजीव नड्डा, सहायक निदेशक डॉ. रवि ठाकुर, जिला पंचायत अधिकारी अंचित डोगरा, स्वच्छ भारत मिशन के इंद्रदेव, अन्य अधिकारी, नेहरू युवा केंद्र से मीना राणा, बजौरा के प्रधान गोपी चंद, अन्य पंचायतों के जनप्रतिनिधियों, विभिन्न संस्थाओं के पदाधिकारियों तथा आम लोगों ने भी श्रमदान किया.